भारत-नेपाल में भूकंप, जान माल का नुकसान

  • 18 सितंबर 2011
इमेज कॉपीरइट ap

गुवाहाटी, दिल्ली और पटना समेत उत्तर और पूर्वी भारत के कई इलाक़ों में भूकंप के झटके आए हैं.जान-माल का नुकसान हुआ है, ख़ासकर सिक्कम और नेपाल में. बांग्लादेश में भी झटके महसूस किए गए.

एएफ़पी के मुताबिक नेपाल में तीन लोगों की मौत हो गई है जहाँ ब्रितानी दूतावास की दीवार ढह गई. जबकि बिहार दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई है.

बिहार के डीजीपी अभियानंद ने बताया कि नालंदा ज़िले में हरनौद गाँव में एक बच्ची दीवार ढहने से मर गई जबकि तरोनी गाँव में एक और व्यक्ति की मौत हो गई.

झटके करीब 10 से 15 सैकेंड तक महसूस किए जा सके. भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक भूकंप के तीव्रता 6.8 मापी गई है और इसका केंद्र भारत-नेपाल सीमा पर सिक्कम की पास है. भूकंप शाम को छह बजकर 11 मिनट पर आया. सिक्कम में बाद में भी दोबारा झटके आए.

सिक्कम और नेपाल से नुकसान ही ख़बरें हैं.भूकंप के झटके आते ही लोग अफ़रा-तफ़री से अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए. सिक्कम में कई जगह बिजली चली गई और फ़ोन लाइनें ठप्प पड़ गई. दिल्ली से भारतीय वायु सेना के दो विमान सिक्कम जा रहे हैं.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सिक्कम के मुख्यमंत्री से फ़ोन पर बात की है. सिक्कम में आए भूकंप को देखते हुए आपदा प्रबंधन अथॉर्टी की आपात बैठक भी बुलाई गई है.

अभी कुछ दिन पहले सात सितंबर को भी दिल्ली और आस-पास के इलाक़ों में भूकंप के झटके आए थे. उस भूकंप का केंद्र सोनीपत में था और इसकी तीव्रता 4.4 थी.

संबंधित समाचार