दिल्ली में डीज़ल कारें होगीं अब और महंगी

  • 29 सितंबर 2011
इमेज कॉपीरइट AP
Image caption दिल्ली सरकार ने डीज़ल वाहनों के लिये पंजीकरण शुल्क में मौजूदा कीमत पर 25 प्रतिशत वृद्धि कर दी है.

दिल्ली में डीज़ल कार खरीदना 29 सितंबर से महंगा हो रहा है.

दिल्ली सरकार ने डीज़ल वाहनों के लिये पंजीकरण शुल्क में मौजूदा कीमत पर 25 प्रतिशत वृद्धि कर दी है.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में रोज़ाना औसतन 1200 से 1400 वाहनों का पंजीकरण होता हैं. इसमें से करीब 30 प्रतिशत डीज़ल कारें होती हैं.

इसी साल मार्च में बजट पेश करते हुए दिल्ली सरकार ने सभी डीज़ल वाहनों पर अतिरिक्त कर लगाने का प्रस्ताव किया था.

पंजीकरण शुल्क में बढ़ोत्तरी

समाचार एजेंसियों ने अधिकारियों के हवाले से कहा है जिन डीज़ल वाहनों पर उनकी कुल लागत का 4 प्रतिशत पंजीकरण शुल्क लगता था, उन पर अब 5 प्रतिशत तथा जिन गाड़ियों पर शुल्क 7 प्रतिशत लगता था, उन पर अब 8.75 प्रतिशत शुल्क लगेगा.

लग्ज़री कारों पर शुल्क की दर 10 फ़ीसदी की बजाए 12.5 फ़ीसदी होगी.

कम क़ीमत वाले वाहनों पर पंजीकरण शुल्क में वृद्धि कम से कम छह हज़ार रुपये जबकि महंगी कारों तथा माल ढोने वाली गाड़ियों के मामले में यह बढ़ोतरी 20 से 30 हज़ार रुपये तक हो सकती है.

संबंधित समाचार