भारत अफ़गान सुरक्षा बलों को प्रशिक्षण देगा

हामिद करज़ई और मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट AP
Image caption भारत और अफ़गानिस्तान ने सामरिक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं.

भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई के बीच दिल्ली में हुई अहम बैठक में तय हुआ है कि भारत अफ़ग़ानिस्तान के सुरक्षा बलों को प्रशिक्षण, उपकरण और क्षमता बढ़ाने में मदद करेगा.

दोनों देश राष्ट्रीय सुरक्षा के क्षेत्र में सामरिक वार्तालाप स्थापित करने के लिए सहमत हुए हैं.

इसकी घोषणा भारत की यात्रा पर आए अफ़गानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई और भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बीच हुई बैठक के बाद की गई है.

सामरिक भागेदारी पर हुए समझौते में कहा गया है, “ये वार्तालाप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के नेतृत्व में होंगे. इस विषय में क्षेत्रीय शांति और सुरक्षा को सदृढ़ करने के मक़सद से द्विपक्षीय प्रयासों को बढ़ाने के लिए नियमित परामर्श किया जाएगा.”

समझौते के अनुसार सामरिक साझेदारी का उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद, सुनियोजित अपराध, नशीली दवाओं के अवैध व्यापार और अवैध धन को वैध बनाने जैसे विषयों पर सहयोग बढ़ाना है.

समझौते के अनुसार भारत अफ़गान राष्ट्रीय सुरक्षा बलों को प्रशिक्षण, उपकरण और क्षमता बढ़ाने में मदद करने पर भी राज़ी हुआ है.

भारत और अफ़गानिस्तान के बीच ये समझौता ऐसे वक़्त हुआ है जब अफ़गानिस्तान और पाकिस्तान के बीच हालिया हमलों के बाद रिश्ते विगड़ते जा रहे हैं.

भारत अफ़गानिस्तान के कुछ बड़े अनुदानकर्ताओं में से एक है.

आर्थिक सहयोग

दोनों देश व्यापार, आर्थिक, वैज्ञानिक और तकनीकी सहयोग के अलावा व्यापारिक संबंधों के विस्तार के लिए उद्योग जगत के प्रतिनिधियों के बीच सहयोग पर भी राज़ी हुए हैं.

भारत और अफ़गानिस्तान कृषि, ग्रामीण विकास, खनन, ऊर्जा, सूचना प्रौद्योगिकी, संचार और नागरिक उड्डयन समेत यातायात पर सहयोग बढ़ाने के तैयार हो गए हैं.

इसके अलावा भारत शिक्षा के क्षेत्र में वर्तमान में अफ़गानिस्तान को दिए जा रहे सहयोग को और सदृढ़ करेगा. भारत इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए छात्रवृतियों का विस्तार करेगा.

अफ़गानिस्तान की ज़रुरतों के अनुसार भारतीय मेडिकल, इंजीनियरिंग और प्रबंधन संस्थानों में अफ़गान छात्रों को छात्रवृति की संभावनाएं तलाशी जाएंगी.

साथ ही विद्यालय और महाविद्यालय स्तर पर 'स्टूडेंट एक्सचेंज कार्यक्रमों' को भी प्रोत्साहन दिया जाएगा.

संबंधित समाचार