'उपचुनाव नतीजे कांग्रेस के लिए चेतावनी'

इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption टीम अन्ना ने कांग्रेस की हार का स्वागत करते हुए उसका श्रेय लूटना शुरू कर दिया है.

हरियाणा के हिसार लोकसभा उपचुनाव के नतीजों का सभी को बेसब्री से इंतज़ार था. फिर चाहे वो राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियां हों या स्थानीय राजनीतिक पार्टियां, चुनावों में भाग लेने वाला आम आदमी हो या चुनावों में रूचि न रखने वाले लोग.

हरियाणा जनहित कांग्रेस के कुलदीप बिश्नोई ने चुनाव में जीत हासिल की, जिसके बाद ‘अन्ना फ़ैक्टर’ पर सभी राजनीतिक दलों की बयानबाज़ी शुरू हो गई है. अन्ना हज़ारे ने हिसार के लोगों से अपील की थी कि वे कांग्रेस को अपना वोट न दें.

कांग्रेस ने अन्ना की अपील के असर को नज़रअंदाज़ करते हुए कहा है कि पार्टी ने पिछले चुनावों के दौरान भी कोई ख़ास मुकाम हासिल नहीं किया था, इसलिए उनकी हार का श्रेय अन्ना को नहीं दिया जा सकता.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान ख़ुर्शीद ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि अन्ना की अपील के बिना भी हिसार ने कांग्रेस को भारी मत से वोट दिया होता. हिसार में हमेशा से स्थानीय पार्टियों का ही बोलबाला रहा है.”

उधर टीम अन्ना ने कांग्रेस की हार का स्वागत किया है. ट्विटर पर संदेश जारी कर टीम अन्ना ने कहा, “हिसार की चुनावी हार से कांग्रेस को सबक लेना चाहिए और जन लोकपाल पारित करना चाहिए.”

तो दूसरी ओर अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उपचुनाव के नतीजे कांग्रेस के लिए चेतावनी है. उन्होंने कहा, “हम सिर्फ़ इतना चाहते थे कि इन चुनावों में कांग्रेस की हार सुनिश्चित हो.”

अन्ना पर सवाल

वैसे अन्ना की अपील से पहले भी उम्मीद की जा रही थी कि कुलदीप बिश्नोई इन चुनावों में बाज़ी मार ले जाएंगें.

हरियाणा जनहित कांग्रेस और भाजपा के गठबंधन के उम्मीदवार कुलदीप बिश्नोई पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल के बेटे हैं, जिनकी पिछले दिनों मौत हो गई थी.

दिलचस्प बात ये है कि ख़ुद कुलदीप बिश्नोई का भी ये ही मानना है कि अन्ना की अपील का चुनावी नतीजों से कोई लेना देना नहीं है.

एक टीवी इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कहा, “मेरे पिता और परिवार ने हिसार के लिए बहुत कुछ किया है और ये नतीजा उसी का फल है. मैं अन्ना का समर्थन करता हूं. लेकिन उन्हें एक बात साफ़ करनी चाहिए. वे लोगों को किसके ख़िलाफ़ ले जाना चाहते हैं? कांग्रेस या भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़?”

कुलदीप बिश्नोई ने अपने सबसे बड़े चुनावी प्रतिद्वंदी अजय चौटाला को मात दी जबकि कांग्रेस के उम्मीदवार अजय चौटाला तीसरे नंबर पर रहे.

संबंधित समाचार