पुलिस और उग्र भीड़ में टकराव, तीन की मौत

बिहार पुलिस (फ़ाइल फोटो) इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption बिहार पुलिस पर ग्रामीणों ने गंभीर आरोप लगाए हैं

बिहार के सिवान ज़िले में बुधवार दोपहर ग्रामीणों की उग्र भीड़ से बचकर भाग रहे पुलिसकर्मियों की तेज़ रफ़्तार मोटर गाड़ी से कुचले गए तीन व्यक्तियों की मौत हो गई.

लोगों की उत्तेजित भीड़ के भारी पथराव में तीन पुलिसकर्मी भी गंभीर रूप से घायल हो गए. दोनों तरफ़ से अन्य कई लोग ज़ख़्मी हुए और एक पुलिस-वाहन को जला दिया गया.

तिरहुत प्रमंडल के पुलिस महानिरीक्षक गुप्तेश्वर पाण्डेय ने बीबीसी को टेलीफ़ोन पर बताया कि एक कथित बच्चा-चोर महिला को क्रुद्ध गाँव वालों की गिरफ़्त से बचाने के संघर्ष में ये घटना घटी.

उन्होंने बताया, ''घटनास्थल मदारपुर गाँव में जमा लोगों की हमलावर भीड़ जिस महिला की जानलेवा पिटाई कर रही थी, उसे बचाकर तेज़ी से निकल भागने की हड़बडी में पुलिस की गाड़ी से कुचलकर तीन लोगों की मौत हो गई. साथ ही हिंसक हो उठी भीड़ की ओर से भारी पथराव किए जाने से घायल आठ पुलिसकर्मियों में से तीन की हालात बहुत गंभीर है.''

गुप्तेश्वर पाण्डेय का कहना है कि संदेहास्पद स्थिति में उस इलाक़े में घूम रही इस महिला के बारे में ये चर्चा फ़ैल गई थी कि वह किडनी बेचने वाले गिरोह की सदस्य है और वहाँ बच्चा चुराने आई हुई है.

पुलिस के अनुसार शायद उत्तर प्रदेश की रहने वाली उस अर्ध-विक्षिप्त सी लग रही महिला को पकड़ कर पीटने वाले ग्रामीणों की भीड़ किसी भी हालत में उसे पुलिस को सौंपना नहीं चाहती थी.

संघर्ष

जब पुलिस ने ज़ोर-ज़बरदस्ती की, तो बेहद उग्र हो उठे लोगों ने पुलिस जीप में आग लगा दी और तब तक हज़ारों की तादाद में जमा हो चुके ग्रामीणों और पुलिस के बीच संघर्ष तेज़ हो गया.

ग्रामीणों का आरोप है कि 'बच्चा-चोर महिला' को लेकर भागने के बहाने जान-बूझ कर वहाँ पुलिस वालों ने विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों की भीड़ पर तेज़ रफ़्तार से गाड़ी चलाकर तीन ग्रामीणों की हत्या कर दी है.

उनका ये भी आरोप है कि घूस लेकर अपराधियों को संरक्षण देने वाली स्थानीय पुलिस पर से लोगों का विश्वास उठ चुका है.

जिस समय ये घटना घटी, उस समय पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्यभर के बड़े पुलिस अधिकारियों के साथ क़ानून-व्यवस्था को लेकर समीक्षा-बैठक कर रहे थे.

सिवान से इस घटना की सूचना मिलते ही उन्होंने वहाँ के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को बैठक छोडकर हेलिकॉप्टर से सिवान में घटना-स्थल के लिए रवाना कर दिया.

राज्य में इन दिनों तेज़ी से आपराधिक घटनाओं में हो रही वृद्धि के कारण नीतीश सरकार की आलोचना हो रही है.

संबंधित समाचार