भंग करें टीम अन्ना: कुमार विश्नास

  • 28 अक्तूबर 2011
anna meet
Image caption टीम अन्ना के सदस्य शनिवार को गाज़ियाबाद में एक अहम बैठक कर रहे हैं

टीम अन्ना के सदस्य कुमार विश्नास ने अन्ना हज़ारे को पत्र लिख कर मौजूदा टीम अन्ना को भंग करने की मांग की है.

उन्होंने कहा, ''मैं यह निवेदन करना चाहता हूं कि आप सीमित लोगों की इस कोर कमेटी को विस्तार देकर इसे 121 करोड़ लोगों की 'हार्ड-कोर कमेटी' में रूपांतरित कर दें.''

कुमार विश्नास ने लिखा, ''मैं पुन: आपसे निवेदन करता हूं कि इस कोर कमेटी को स्थगित कर एक नई व्यवस्था का सृजन करें, जिससे भ्रष्टाचार-मुक्त नव भारत का हम सबका सपना साकार हो सके.''

कुमार विश्वास का यह पत्र कोर कमेटी की बैठक की पूर्व संध्या पर भेजा गया है.

टीम अन्ना के सदस्य शनिवार को गाज़ियाबाद में एक अहम बैठक कर रहे हैं. बैठक में टीम के सदस्यों के विवादों में घिरने पर आए संकट पर चर्चा होगी.

कुमार विश्वास का कहना है कि टीम अन्ना के सदस्यों पर आंदोलन को भटकाने के लिए हमले हो रहे हैं. ऐसा करने वाले चाहते हैं कि अन्ना और उनकी टीम इन आरोपों पर सफाई देने में ही उलझी रहे.

कोर टीम को भंग करने से भ्रष्टाचारियों को आंदोलन को भटकाने का मौका नहीं मिलेगा.

'भ्रामक कर रही सरकार'

कुमार विश्वास ने लिखा, ''इन सब हमलों और उनकी सफाई देने से मूल मुद्दे से ध्यान हटाने का इनका षडयंत्र बलशाली होगा. ऐसा होने पर न केवल जन लोकपाल का मुद्दा प्रभावित होगा, अपितु करोड़ों भारतवासियों के उस विश्वास को भी आघात पहुंचेगा, जिसमें वे संवैधानिक, अहिंसक और शांतिपूर्ण तरीके से देश की समस्याओं का हल ढूंढते हैं।''

लोकपाल के मामले पर उन्होने कहा कि सरकार ने इसपर केवल भ्रामक कदम उठाए हैं.

उन्होने लिखा, ''सरकार ने कुछ भ्रामक कदम उठाने के अलावा अब तक इस मुद्दे पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की है। एक ओर तो माननीय प्रधानमंत्री जी पत्र लिखकर आपको आश्वस्त करते हैं कि लोकपाल की दिशा में आवश्यक कार्रवाई होगी, तो दूसरी ओर सत्ताधारी पार्टी के नेतागण आपकी और कोर कमेटी के एक एक व्यक्ति की सार्वजनिक छवि एवं विश्वसनीयता को धूमिल करने में जी-जान से जुटे हैं।''

संबंधित समाचार