अवैध खनन मामले में आंध्र के गृह मंत्री से पूछताछ

लौह खनन
Image caption अवैध खनन के इसी मामले में कर्णाटक के मुख्यमंत्री का नाम भी आया था.

केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने लौह अयस्क के अवैध खनन मामले में आंध्र प्रदेश के गृह मंत्री इंद्र रेड्डी से पूछताछ की है.

गृह मंत्री से सीबीआई की पूछताछ लगभग दो घंटे तक चली.

सीबीआई कर्नाटक के बेल्लारी और आंध्र प्रदेश के अनंतपुर ज़िलों में लौह अयस्क के अवैध खनन मामले की जांच कर रही है.

अवैध खनन मामले में कर्नाटक के पूर्व मंत्री जनार्धन रेड्डी जेल में हैं. हज़ारों करोड़ रूपयों के इस घोटाले में पूर्व मंत्री के एक सीनियर अधिकारी भी हैदराबाद की चंचलगुड़ा जेल में बंद हैं.

इंद्र रेड्डी साल 2004 से 2009 के दौरान खनन मंत्री थे और जनार्धन रेड्डी की ओबालापुरम कंपनी को खदान की अनुमति उसी दौरान मिली थी.

सांठ-गांठ

लेकिन इस मामले में आंध्र प्रदेश के किसी मंत्री से पहली बार पूछताछ हुई है.

जांच एजेंसी ने पहले राज्य की एक वरिष्ठ अधिकारी श्रीलक्ष्मी से पूछ ताछ की थी. श्रीलक्ष्मी कंपनी को अनुमति दिए जाते समय खनन विभाग में सचिव के पद पर थी. सीबीआई विभाग की फाइलें और दूसर रिकार्ड पहले ही ज़ब्त कर चुकी है.

मंत्री के पूछताछ एक ऐसे समय की गई है जब सीबीआई जनार्धन रेड्डी के विरुद्ध अपना पहला अभियोग-पत्र अदालत में दाख़िल करने वाली है.

संबंधित समाचार