नीरा ने जनसंपर्क का काम छोड़ा

नीरा राडिया
Image caption 2जी स्पेक्ट्रम मामले में नाम आने के बाद से वे ख़बरों में बनी हुई है

वैश्नवी ग्रुप की मालिक और प्रोमोटर नीरा राडिया का कहना है कि वे जनसंपर्क का काम छोड़ रही है.

कॉर्पोरेट दलाल नीरा राडिया की कंपनी टाटा समूह और मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड के लिए जनसंपर्क का काम किया करती थी.

एक वक्तव्य में नीरा राडिया ने कहा है, "मैंने अपने परिवार और स्वास्थ्य को प्राथमिकता देने के लिए ये फ़ैसला किया है मैं अब ये जनसंपर्क का काम छोड़ रही हूँ."

अपने वक्तव्य में उन्होंने कहा है कि ये फैसला मेरे लिए दुखदायी है और मैंने बहुत सोच समझ कर और मशवरे के बाद ये फ़ैसला लिया है.

नीरा राडिया के इस फ़ैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए टाटा समूह के अध्यक्ष रतन टाटा का कहना था, ''टाटा समूह उनके फ़ैसले का आदर करता है. उन्होंने वैश्नवी को एक बड़ी कंपनी में तब्दील किया और कई बार अपनी व्यक्तिगत और परिवारिक फ़ायदे के एवज में क्लाइंट को तरजीह देती थी.''

उनका कहना था वैश्नवी टाटा समूह के लिए जनसंपर्क का काम साल 2001 से कर रही है और टाटा को एक ब्रैंड के तौर पर स्थापित करने में अहम भूमिका निभाई है.

विवादों से घिरी

रिलायंस इंडस्ट्रीज के एक प्रवक्ता का कहना था, हमें दुख है कि नीरा राडिया इस काम से अलग हो रही है.पिछले तीन सालों में हमने राडिया और उनकी टीम के साथ पेशवर और अच्छे संबंधो आनंद लिया है.

नीरा राडिया की विभिन्न लोगों से हुई फ़ोन बातचीत की रिकॉर्डिंग सामने आने के बाद से ही वे ख़बरों में बनी हुई थी.

2 जी स्पेक्ट्रम मामले में नाम आने के बाद से नीरा राडिया चर्चा में आ गई थी

इसमें देश के बड़े उद्योगपति रतन टाटा से फ़ोन पर की गई बातचीत भी शामिल है.

2जी स्पेक्ट्र्म घोटाले के मामले में संसद की लोकलेखा समिति ने शीर्ष उद्योगपति रतन टाटा और कॉर्पोरेट दलाल नीरा राडिया से पूछताछ भी कर चुकी है.

फ़ोन पर की गई बातचीत के विवरण प्रकाशित कर चुकी पत्रिका 'आउटलुक' ने कहा था कि उसे नीरा राडिया की बातचीत के 800 नए टेप मिले हैं.

पत्रिका का कहना है कि इन नए टेप से नीरा राडिया के कामकाज के तरीक़ों पर नई जानकारी मिलती है.

नीरा राडिया देश के दो बड़े उद्योगपतियों रतन टाटा और मुकेश अंबानी की कंपनियों के लिए जनसंपर्क का काम करती रही हैं लेकिन टेप आने के बाद कहा जा रहा है कि वे दरअसल इन कंपनियों के लिए कॉर्पोरेट दलाल का काम करती थीं.

संबंधित समाचार