अन्ना करेंगे कोर कमेटी का विस्तार

  • 14 नवंबर 2011
anna hazare इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अन्ना हज़ारे के ब्लॉगर ने दावा किया था कि एक बार अन्ना कोर कमेटी को भंग करने का मन बना चुके थे

टीम अन्ना के सदस्यों के विवाद में घिरने और आपस में एक दूसरे में खींचतान के बाद आख़िर अन्ना हज़ारे ने अपनी कोर कमेटी के विस्तार की घोषणा की है.

अन्ना हज़ारे ने कहा है कि उनकी कोर कमेटी में नए सदस्यों को जगह दी जाएगी लेकिन इन नए सदस्यों की पृष्ठभूमि की अच्छे तरीक़े से जांच-पड़ताल होगी, ताकि साफ-सुथरी छवि वाले लोग ही इस आंदोलन का हिस्सा बनें.

74 वर्षीय समाजसेवी अन्ना हज़ारे ने कहा कि इस बार वो कोर कमेटी में किसी भी नए सदस्य को काफी सोच समझकर शामिल करेंगे.

अन्ना ने भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ शुरु हुए इस आंदोलन में आम लोगों की भागीदारी पर खुशी ज़ाहिर करते हुए कहा, "आज हज़ारों लोग इस आंदोलन से जुड़ चुके हैं, जो इस लड़ाई में हमारा साथ देना चाहते हैं, हमें बस उन्हें ढूंढ कर निकालना है."

जांच पड़ताल

अन्ना हज़ारे ने कहा है कि कोर कमेटी के लिए चुने जाने वाले लोगों के चरित्र, उनका आपराधिक रिकॉर्ड और पृष्ठभूमि की अच्छी तरह से पड़ताल करने के बाद ही उसे कमेटी में शामिल किया जाएगा.

अन्ना ने ये भी कहा कि ये व्यक्ति किसी भी जाति, धर्म और समुदाय का हो सकता है और इसमें मुसलमान, दलितों और पिछड़ों को भी शामिल किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि नई कोर कमेटी के कुल सदस्यों की संख्या 50 ही होगी.

अन्ना की ये टिप्पणी कोर टीम के कुछ सदस्यों पर लगे रहे भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद आए हैं.

अन्ना ने कहा, "हमारा देश क़ानून के सहारे चलता है, ऐसे में जनलोकपाल अंतिम कानून नहीं होगा. देश में ज़रुरत के हिसाब आगे भी नए क़ानून बनते रहेंगे जब तक कि हमें भ्रष्टाचार से पूरी तरह से आज़ादी नहीं मिल जाती."

कमेटी के सदस्यों के चुनाव के बाद उन्हें दो से तीन दिन की ट्रेनिंग दी जाएगी ताकि संगठन का बुनियाद मज़बूत हो.

संबंधित समाचार