तमिलनाडु में 'डैम999' पर प्रतिबंध

  • 24 नवंबर 2011
फ़िल्म डैम 999 का पोस्टर इमेज कॉपीरइट Official Website
Image caption तमिलनाडु सरकार का कहना है कि फ़िल्म 999 लोगों में मुल्लापेरियार बांध के बारे में डर फैलाती है.

तमिलनाडु सरकार ने राज्य में फ़िल्म डैम 999 के रिलीज़ पर प्रतिबंध लगा दिया है.

आधिकारिक बयान के मुताबिक़, “तमिलनाडु सरकार ने फ़िल्म डैम999 पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाने का फ़ैसला किया है. फ़िल्म लोगों में मुल्लापेरियार बांध के बारे में डर फैलाती है.”

इससे पहले राज्य के सिनेमाघर मालिकों और प्रदर्शक संघ ने फ़िल्म का प्रदर्शन नहीं करने के फ़ैसला किया था.

फ़िल्म अंग्रेज़ी में बनी है और 25 नवंबर को भारत में रिलीज़ होगी. तमिलनाडु में फ़िल्म तमिल में डब होकर रिलीज़ होनी थी.

राज्य की विभिन्न राजनीतिक पार्टियाँ भी राज्य सरकार से फ़िल्म पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रही थीं.

माना जा रहा है कि डैम999 मुल्लापेरियार बांध पर आधारित है जिसको लेकर तमिलनाडु और केरल के बीच विवाद है.

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को एक पत्र भी लिखा है. इसमें उन्होंने प्रधानमंत्री से निवेदन किया है, “वे केरल सरकार को एक नया बांध न बनाने की सलाह दें क्योंकि मौजूदा बांध ठीक से काम कर रहा है और पूरा मामला उच्चतम न्यायालय में है, केरल सरकार को ये भी राय दी जाए कि वो राजनीतिक फ़ायदे के लिए लोगों में डर न फैलाए.”

प्रतिबंध को चुनौती

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक फ़िल्म के निर्देशक सोहन रॉय ने प्रतिबंध को ‘पूरी तरह दुर्भाग्यपूर्ण’ बताया है.

उन्होंने कहा है कि वे इसे उच्चतम न्यायालय में चुनौती देंगे क्योंकि उनकी फ़िल्म को सेंसर बोर्ड ने पहले ही पास कर दिया है.

सोहन रॉय फ़िल्म की रीलिज़ के सिलसिले में फ़िलहाल दुबई में हैं. वहां से उन्होंने पीटीआई को बताया, “भारत में किसी फ़िल्म या सृजनात्मक कार्य के साथ ऐसा बर्ताव नहीं होना चाहिए. ऐसे कदमों से सृजनशीलता ख़त्म हो जाएगी.”

विवाद

निर्देशक सोहन रॉय के निर्देशन में बनी डैम999 की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार फ़िल्म एक भ्रष्ट मेयर के बारे में है जो राजनीतिक फ़ायदे और निजी गौरव के लिए एक बांध बनवाता है जिससे लाखों लोगों की ज़िंदगी को ख़तरा है.

वेबसाइट पर ये भी लिखा है कि फ़िल्म 1975 के चीन के बानकियाओ बांध आपदा को समर्पित है जिसमें ढाई लाख लोगों की जान गई थी.

मुल्लापेरियार बांध केरल के थेक्काडी ज़िले में स्थित है. 1895 में बना यह बांध तमिलनाडु के नियंत्रण में है और उसके दक्षिणी ज़िलों के किसानों की सिंचाई ज़रूरतों को पूरा करता है.

तमिलनाडु बांध की ऊंचाई बढ़ाना चाहता है जबकि केरल सुरक्षा कारणों का हवाला देकर इस कदम का विरोध और एक नए बांध की वकालत करता रहा है.

संबंधित समाचार