सांसदों के लिए अभद्र भाषा पर ओम पुरी ने माफ़ी मांगी

  • 24 नवंबर 2011
ओम पुरी इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption जाने-माने अभिनेता ओम पुरी ने बॉलीवुड की फिल्मों समेत कला फ़िल्मों में भी काम किया है.

जाने-माने बॉलीवुड अभिनेता ओम पुरी ने सांसदों के खिलाफ़ अभद्र भाषा के इस्तेमाल पर लोकसभा अध्यक्ष को चिट्ठी लिखकर माफ़ी मांगी है.

अगस्त में हुए अन्ना हज़ारे के भ्रष्टाचार विरोधी अभियान के मंच पर भाषण देते हुए ओम पुरी ने वो बयान दिया था.

अभिनेता के बयान को संज्ञान में लेते हुए संसद ने उन्हें नोटिस भेजा था.

ओम पुरी के प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया कि अभिनेता ने यह पत्र क़रीब एक महीने पहले ही भेज दिया था.

प्रवक्ता ने कहा, ''हमने संसद से बिना किसी शर्त के माफ़ी मांगी है.''

इस प्रकार के मामलों में भारतीय संसद के पास ओरोपियों को समन भेजने और फ़टकार लगाने का अधिकार प्राप्त है.

'अपने से नाराज़'

भ्रष्टाचार के कई मामले प्रकाश में आने से लोगों में आक्रोश के परिणामस्वरूप अन्ना हज़ारे के भ्रष्टाचार विरोधी अभियान में ख़ूब भीड़ भी जुटी थी.

इसी अभियान के दौरान ओम पुरी ने मंच पर कहा था, ''देखिए ये कैसे एक दूसरे से लड़ते हैं. संसद में ये कुर्सियां और माइक उठाकर एक दूसरे को मारते हैं.''

हालाँकि कई सांसदों की तरफ़ से ओम पुरी के इस बयान की भर्त्सना किए जाने के बाद पुरी ने माफ़ी मांग ली थी.

एक निजी समाचार चैनल को दिए साक्षात्कार में ओम पुरी ने कहा था, ''मैंने जिन दो शब्दों का इस्तेमाल किया था उसको लेकर मै अपने से नाराज़ हूँ. मै इससे सहमत हूँ कि मुझे बेहतर भाषा का इस्तेमाल करना चाहिए था लेकिन मै वहाँ भावनाओं में बह गया था.''

ओम पुरी ने बॉलीवुड फिल्मों समेत कई जानी-मानी कला फ़िल्मों में भी काम किया है.

संबंधित समाचार