शव लेने के लिए अनुज का परिवार लंदन पहुंचा

  • 4 जनवरी 2012
इमेज कॉपीरइट PA

ब्रिटेन में मारे गए भारतीय छात्र अनुज बिदवे का परिवार बुधवार देर रात पुणे से लंदन पहुंचा.

अनुज की 26 दिसंबर को ग्रेटर मैनचेस्टर में ऑर्डसाल में हत्या कर दी गई थी. लेकिन अभी तक परिवार को अनुज का शव नहीं सौंपा गया है.

अनुज बिदवे की हत्या 26 दिसंबर 2011 को उस समय हुई थी जब वो छुट्टियां बिताने के लिए नौ अन्य भारतीय छात्र-छात्राओं के साथ ग्रेटर मैचेस्टर गए हुए थे.

ये छात्र ऑर्डसाल में स्थित अपने होटल से सिटी सेंटर की तरफ़ जा रहे थे, तभी एक व्यक्ति सड़क पर आकर अनुज बिदवे से बातें करने लगा.

इसके कुछ ही देर बाद उस व्यक्ति ने बंदूक़ निकाल ली और बिदवे की कनपट्टी पर क़रीब से गोली मार दी और उनकी मौत हो गई.

लंदन पहुंचने वालों में अनुज के पिता सुभाष बिदवे, अनुज की माता और उनके जीजा शामिल हैं.

ये लोग गुरूवार को ब्रिटेन के गृह मंत्रालय की समिति के चेयरमैन और सांसद किथ वाज़ से मुलाक़ात करेंगे.

किथ वाज़ ने इसकी जानकारी देते हुए कहा, ''बिदवे के परिवार का संसद में स्वागत करने में मुझे बहुत ख़ुशी होगी. ये उनके लिए बहुत मुश्किल घड़ी है लेकिन इसमें भी उनलोगों ने बड़ी गरिमा दिखाई है.''

किथ वाज़ ने हत्या के एक सप्ताह के अंदर ही एक व्यक्ति को गिरफ़्तार करने के लिए ग्रेटर मैंचेस्टर पुलिस की भी तारीफ़ की और ब्रिटेन में रह रहे विदेशी छात्रों को भी सुरक्षा का यक़ीन दिलाया.

किथ वाज़ का कहना था, ''हमें सभी विदेशी छात्रों को ये यक़ीन दिलाना चाहिए कि ब्रिटेन में उनकी सुरक्षा के लिए हमलोग जो भी कर सकते हैं वो कर रहें हैं. अनुज की मौत किन हालात में हुई अगर इसकी पूरी रिपोर्ट सार्वजनिक की जाए तो इससे हमें बहुत मदद मिलेगी.''

अनुज के परिवार वाले गुरूवार को मैंचेस्टर जाएंगे और शुक्रवार को सालफ़र्ड में ठीक उस जगह जाएंगे जहां अनुज की हत्या हुई थी.

परिवार वाले के लैंकेस्टर विश्वविद्यालय जाने की भी उम्मीद है जहां अनुज माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक्स की पढ़ाई कर रहे थे.

ग्रेटर मैनचेस्टर पुलिस की प्रवक्ता ने उम्मीद जताई है कि बिदवे परिवार अनुज का शव लेकर शुक्रवार को भारत लौट जाएगा.

हिरासत में अभियुक्त

इस मामले में ब्रिटेन पुलिस ने कायरन स्टेपलटन नाम के एक युवक के ख़िलाफ़ हत्या का मामला दर्ज कर उसे हिरासत में भेज दिया है.

कायरन ने जेल से वीडियो लिंक के ज़रिए कोर्ट की कार्रवाई में हिस्सा लिया. अब उन्हें 20 मार्च को क्राउन कोर्ट में पेश किया जाएगा.

अनुज की हत्या की जानकारी बिदवे परिवार को पुलिस के बजाए फ़ेसबुक के ज़रिए मिली थी. शुरुआत में इस पूरे प्रकरण को लेकर बिदवे परिवार ने अपनी नाराज़गी जताई थी.

इसके बाद ग्रेटर मैनेचेस्टर पुलिस के दो वरिष्ठ अधिकारी पुणे आए और मंगलवार को उन्होंने बिदवे परिवार से मुलाक़ात की.

पुलिस अधिकारी रस जैक्सन ने बताया है कि अनुज की हत्या के मामले में कुछ अनसुलझे पहलुओं को जानने में मदद मिली है.

संबंधित समाचार