ठंड की मार दक्षिण भारत पहुंची

शीतलहर ठंड भारत इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अधिकारियों के मुताबिक़ दक्षिण भारत के तापमान में इतनी गिरावट आना अभूतपूर्व है

दक्षिण भारत में अभूतपूर्व शीत लहर की वजह से आंध्र प्रदेश में कम से कम सात लोगों की मौत हो गई है और कर्नाटक में पिछले 132 सालों का तापमान रिकॉर्ड टूट गया है.

बीबीसी संवाददाता उमर फ़ारुक़ के मुताबिक आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों और उत्तरी तेलंगाना के ज़िलों में ठंड का सबसे ज़्यादा प्रकोप दर्ज किया गया है.

जहां तेलंगाना के अदिलाबाद ज़िले में तापमान पिछले तीन दिनों से चार डिग्री सेल्सियस है, वहीं तटीय क्षेत्र विशाखापटनम के लम्बासिंगी नामक क़बायली इलाके में तापमान एक डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है.

राजधानी हैदराबाद में तापमान 11 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से कम है.

आंध्र प्रदेश मौसम विभाग का कहना है कि राज्य में ठंड की ऐसी स्थिति अभूतपूर्व है और उत्तर भारत में चल रही शीत लहर का प्रकोप दक्षिण भारत में पहुंच गया है.

अधिकारियों के मुताबिक़ अगले 48 घंटों तक स्थिति ऐसी ही रहने की संभावना है.

उधर कर्नाटक के माड़िकेरी में न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री तक गिर गया. इस क्षेत्र में पिछले 132 सालों में ऐसी ठंड दर्ज नहीं की गई थी.

गत शनिवार को माड़िकेरी में तापमान नौ डिग्री सेल्सियस था.

उत्तरी शीत लहर

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption उत्तर भारत में बारिश की वजह से शीत लहर और कोहरे का कहर बरपा है

उत्तर भारत में ठंड का क़हर एक बार फिर बरपा है. बर्फ़बारी और बारिश के बाद मंगलवार को उत्तर भारत में तापमान थोड़ा बढ़ने के बावजूद भी शीतलहर चलने लगी.

धुंध की वजह से दिल्ली में केवल 50 मीटर की ही दूरी तक साफ़ देखा जा सका और उत्तर भारत में कई उड़ाने रद्द हुई.

राजधानी में न्यूनतम तापमान 9.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो कि सामान्य से दो डिग्री ऊपर है लेकिन मंगलवार के 10.5 डीग्री के मुकाबले कम है.

मंगलवार को अधिकतम तापमान 20.3 डीग्री दर्ज किया गया था.

मौसम विभाग का कहना है कि अगले दो दिनों में तापमान में गिरावट का दौर चलेगा और न्यूनतम तापमान पांच डिग्री तक गिर सकता है.

पिछले दिनों राजधानी में बारिश की वजह से ठंड बढ़ गई थी और इसके लिए ‘पश्चिमी हवाओं’ को कारण बताया गया था.

संबंधित समाचार