मौत से लड़ रही दो वर्षीय बच्ची

दिल्ली के एक अस्पताल में एक दो-वर्षीय बच्ची ज़िन्दगी और मौत के बीच झूल रही है. बताया जा रहा है कि एक युवती ने इस बच्ची को बुरे तरीके से पीटा है.

अब दिल्ली पुलिस पूरे मामले की जांच कर ये मालूम करने की कोशिश कर रही है कि बच्ची का इतना बुरा हाल क्यों किया गया.

डॉक्टरों के मुताबिक बच्ची के शरीर पर गहरे घाव हैं जो किसी इंसान के काटे जाने की वजह से भी हो सकते हैं. साथ ही उसके बाज़ू की हड्डियां टूट गई हैं और सर में भी गहरी चोट है.

इस मामले से शहर भर में रोष है.

बचने की उम्मीद 50 फ़ीसदी

ये बच्ची भारत के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल ऑल इंडिया इन्स्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसिस (एम्स) में भर्ती है.

बच्ची का इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि, “उन्होंने इतने छोटे बच्चे पर इस स्तर की हिंसा का मामला पहले कभी नहीं देखा”.

एम्स ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टर एम सी मिश्रा ने पत्रकारों को बताया, “बच्ची बहुत बीमार है और उसे वेन्टिलेटर पर रखा गया है, डॉक्टरों की एक टीम परस्पर उसकी देखरेख कर रही है.”

मिश्रा ने कहा, “बच्ची को तीन दिल के दौरे पड़ चुके हैं, उसके चेहरे पर काटे जाने के निशान हैं और उसके दिमाग की हालत भी बुरी है”.

डॉक्टरों के मुताबिक “बच्ची के ज़िन्दा बचने की उम्मीद 50 फ़ीसदी ही है”.

इस बच्ची को एक युवती पिछले हफ़्ते अस्पताल लाई थी. लेकिन ये अभी साफ़ नहीं है कि वही इस बच्ची की मां है या नहीं.

संबंधित समाचार