प्रदर्शन अच्छा न रहा तो राहुल दोषी ठहराए जाएँगे: पवार

शरद पवार इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption शरद पवार ने कहा कि वे 2014 का चुनाव नहीं लड़ेंगे

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा है कि उत्तर प्रदेश चुनावों में कांग्रेस ने राहुल गांधी को 'स्टार कैंपेनर' के तौर पर आगे किया है और यदि पार्टी का प्रदर्शन चुनावों में अच्छा नहीं रहता तो इसके लिए उन्हें दोषी ठहराया जाएगा.

केंद्रीय कृषि मंत्री ने भारतीय टीवी चैनल सीएनएन-आईबीएन को दिए एक इंटरव्यू में ये भी कहा कि 45 साल के सक्रिय राजनीतिक करियर के बाद वे चाहते हैं कि युवा नेताओं को मौका मिले और इसीलिए वे 2014 में होने वाले आम चुनाव नहीं लड़ेंगे.

पवान ने 1967 में चुनावी राजनीति में क़दम रखा था और तब से वे हर चुनाव जीते हैं. वे वर्ष 1985 से लोकसभा में हैं और तीन बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं.

सोनिया गांधी के प्रधानमंत्री पद की दावेदारी के मुद्दे पर 1999 में कांग्रेस छोड़कर राष्ट्रवादी कांग्रेस बनाने वाले पवार ने बाद में इस मुद्दे पर अपने क़दम वापस ले लिए थे और वर्ष 2004 और 2009 में कांग्रेस के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार में मंत्री है.

'राष्ट्रीय नेतृत्व में बदलाव नहीं देखता'

उत्तर प्रदेश के चुनावों के संदर्भ में उन्होंने कहा, "कांग्रेस पार्टी ने उनको (राहुल को) आगे किया है. वे पार्टी के मुख्य कैंपेनर (प्रचारक) हैं, दिग्विजय सिंह नहीं, अन्य नेता नहीं. चाहे कांग्रेस पार्टी जो भी कहे, यदि उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहता तो जनता और राजनीतिक विश्लेषक उन्हें ही दोषी मानेंगे."

उनसे पूछा गया कि क्या राहुल गांधी को विधान सभा चुनावों के बाद प्रधानमंत्री के पद के लिए उम्मीदवार के रूप में पेश किया जाएगा?

शरद पवार का कहना था, "मुझे नहीं पता कि यदि विधान सभा चुनावों में प्रदर्शन अच्छा भी रहता है तो उसके तत्काल बाद कांग्रेस उन्हें इस पद के दावेदार के रूप में पेश करेगी या नहीं...हो सकता है कि वे अगले चुनावों तक का भी इंतज़ार करे. कम से कम आज की स्थिति में तो मैं राष्ट्रीय नेतृत्व में कोई बदलाव होता नहीं देखता..प्रधानमत्री के स्तर पर."

कांग्रेस ने कहा है कि पवार की टिप्पणी न्यायसंगत नहीं है क्योंकि चुनावों में पूरी पार्टी काम करती है.

संबंधित समाचार