सोनिया और मायावती ने एक-दूसरे को घेरा

सोनिया गांधी इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption सोनिया गांधी ने मायावती सरकार की कड़ी आलोचना की

पंजाब और उत्तराखंड में मतदान के बाद उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार में तेज़ी आ गई है.

बुधवार से जहाँ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने उत्तर प्रदेश में अपना चुनाव प्रचार मायावती पर निशाना साधते हुए शुरू किया, तो वहीं मायावती ने भी कांग्रेस की सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए अपनी चुनावी रैली की शुरुआत की.

गोंडा में एक रैली के दौरान सोनिया गांधी ने मायावती सरकार पर सवाल खड़े किए और कहा कि ऐन चुनाव से पहले मंत्रियों से इस्तीफ़े लेने से सरकार साफ़-सुथरी नहीं हो जाती.

मायावती और सोनिया की रैलियाँ- तस्वीरों में

तो दूसरी ओर सीतापुर में बड़ी संख्या में आए समर्थकों को संबोधित करते हुए मायावती ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार ने उत्तर प्रदेश की सरकार को सहयोग नहीं दिया.

आरोप

उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश के विकास के लिए पैसा नहीं दिया. सीतापुर में मौजूद बीबीसी संवाददाता गीता पांडे ने बताया है कि हज़ारों की संख्या में लोग मायावती का बड़ी ही बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे.

जैसे ही वहाँ मायावती पहुँची, मायावती ज़िंदाबाद के नारे लगने लगे. एक घंटे तक के अपने संबोधन में मायावती ने उनके कार्यकाल में राज्य में हुए विकास कार्यों के बारे में लोगों को बताया.

दूसरी ओर गोंडा में एक चुनावी सभा के दौरान सोनिया गांधी ने सवाल उठाए कि चुनाव से पहले इतनी बड़ी संख्या में मंत्रियों को क्यों निकाला गया.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "मौजूदा मुख्यमंत्री मायावती ने चुनाव से पहले 21 मंत्रियों को बर्ख़ास्त किया. वो पाँच वर्षों में उनका भ्रष्टाचार देख नहीं पाईं. मैं ये पूछना चाहती हूँ कि क्या इन इस्तीफ़ों से उनकी सरकार साफ़-सुथरी हो जाएगी."

सोनिया गांधी ने मायावती के इस क़दम को जनता के साथ धोखा बताया.

'सुरक्षा और सम्मान'

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption मायावती ने अपनी चुनावी रैली की शुरुआत सीतापुर से की

पिछले 22 वर्षों के दौरान ग़ैर कांग्रेसी सरकार की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि इन पार्टियों ने उत्तर प्रदेश का नाश कर दिया है.

सोनिया ने कहा कि राज्य में लोगों की आवाज़ सुनने वाला कोई नहीं है, क्योंकि इन पार्टियों के लोग ग़लत कार्यों में शामिल हैं. उन्होंने कहा कि देश में बहुत बदलाव हुआ है और प्रगति भी हुई है, लेकिन ग़ैर कांग्रेसी सरकारों ने उत्तर प्रदेश का बर्बाद कर दिया है.

राज्य की पहले की गठबंधन सरकारों पर टिप्पणी करते हुए सोनिया ने कहा कि ये सभी पार्टियाँ मौक़ापरस्त हैं, जबकि कांग्रेस ही एकमात्र पार्टी है, जिसने उन लोगों के साथ समझौता नहीं किया, जो समाज को बाँटते हैं.

उन्होंने कहा कि इस चुनाव में उत्तर प्रदेश के लोगों की सुरक्षा और उनका सम्मान दाँव पर है.

संबंधित समाचार