सपा से राज्य में गुंडाराज आ जाएगा: मायावती

मायावती की रैली में भीड़ इमेज कॉपीरइट AP
Image caption मायावती की रैली में अच्छी-ख़ासी संख्या में लोग जुटे

उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने ग़लत आर्थिक नीतियों के लिए कांग्रेस की कड़ी आलोचना की है.

उन्होंने कहा कि इन नीतियों के कारण ही ग़रीबी और बेरोज़गारी की समस्या खड़ी हुई है और उत्तर प्रदेश के लोग अपनी जीविका के लिए अन्य राज्यों में जाने को मजबूर हुए हैं.

बहराइच में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मायावती ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वो बसपा शासित उत्तर प्रदेश के साथ सौतेला व्यवहार करती है.

मायावती ने अपनी उपलब्धियाँ गिनाते हुए कहा कि उन्होंने राज्य के चौतरफ़ा विकास के लिए कई काम किए हैं और कई कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत की है. जबकि उनके पहले के मुख्यमंत्रियों ने ऐसा नहीं किया है.

उन्होंने कहा, "अगर मुझे केंद्र सरकार से सहयोग मिलता, तो मैं और बेहतर काम कर सकती थी और नतीजा बेहतर हो सकता था."

आलोचना

मायावती ने इसका भी जिक्र किया कि कैसे राज्य के लिए 80 हज़ार करोड़ के विशेष आर्थिक पैकेज की उनकी मांग को केंद्र ने ठुकरा दिया. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने अपने दम पर पूर्वांचल के विकास के लिए पैकेज दिया.

हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड की तरह पूर्वांचल क्षेत्र के लिए विशेष पैकेज की मांग करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश में बाढ़ और जल-जमाव की समस्या के स्थायी समाधान के लिए ध्यान नहीं दिया.

मुख्यमंत्री मायावती ने उत्तर प्रदेश को चार अलग-अलग राज्यों में विभाजित करने के उस प्रस्ताव का भी जिक्र किया, जो विधानसभा में पारित किया गया था.

उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार अपना संवैधानिक दायित्व नहीं निभा रही है. उन्होंने कहा कि विपक्ष भी इस मामले पर राजनीति कर रही है.

दावा

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption मायावती ने कांग्रेस की अगुआई वाली केंद्र सरकार पर निशाना साधा

मायावती ने यह स्वीकार किया कि 2007 के विधानसभा चुनाव में कुछ ग़लत लोग बहुजन समाज पार्टी में आ गए थे और पार्टी टिकट पर जीत भी गए थे.

उन्होंने दावा किया कि उन्होंने इस विधानसभा चुनाव के लिए साफ़ छवि वाले उम्मीदवारों का चयन किया है. मायावती ने कहा, "पिछले चुनाव के दौरान ग़लत लोग पार्टी में आ गए थे. लेकिन जब अपने हितों के लिए उन्होंने पार्टी की छवि ख़राब करनी शुरू की, तो उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया."

मायावती ने चेतावनी दी कि अगर राज्य में समाजवादी पार्टी सत्ता में आती है, तो उत्तर प्रदेश में 'गुंडाराज' होगा. उन्होंने कहा कि अगर भाजपा सरकार बनाती है, तो सांप्रदायिक और सामंती शक्तियाँ सत्ता में आ जाएँगी. जबकि कांग्रेस के सत्ता में आने पर ग़रीबों, दलितों और बेरोज़गारों को अपनी जीविका के लिए दूसरे राज्यों में जाने पर मजबूर होना पड़ेगा.

उन्होंने एक बार फिर सर्व समाज की बात की और उसके लिए लोगों से वोट मांगे.

संबंधित समाचार