व्यापार में नई इबारत लिखेंगे भारत-पाक

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption आज़ादी के बाद यह पहला मौका है, जब कोई भारतीय वाणिज्य मंत्री पाक दौरे पर गया है.

भारत के वाणि़ज्ज और उघोग मंत्री आनंद शर्मा सोमवार से पाकिस्तान की तीन दिनों की यात्रा पर हैं. आज़ादी के बाद यह पहला मौका है, जब कोई भारतीय वाणिज्य मंत्री पाक दौरे पर गया है.

इस यात्रा का मकसद भारत-पाकिस्तान व्यापार को बढ़ाना है.

पाकिस्तान रवाना होने से पहले आनंद शर्मा ने उम्मीद जताई है कि पाकिस्तान सरकार भारत को सर्वाधिक वरीयता वाले देश यानि मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा इस वर्ष के अंत तक दे सकती है. इससे दोनों देशों के बीच व्यापार बढ़ने के साथ व्यापारिक रिश्तों में मजबूती आएगी.

आनंद शर्मा के साथ भारतीय अधिकारियों और विभिन्न कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों का शिष्टमंडल भी है.

आनंद शर्मा प्रतिनिधि मंडल के साथ पाकिस्तान के शीर्ष उद्योगपतियों और कंपनी प्रमुखों से बातचीत के लिए लाहौर, कराची और इस्लामाबाद जाएंगे.

व्यापारिक बाधाएं

माना जा रहा है कि ये दौरा दोनों देशों के बीच की व्यापारिक बाधाओं को दूर करने की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा.

दरअसल पाकिस्तान सरकार ने पिछले साल भारत के साथ व्यापार को नकारात्मक सूची के आधार पर करने की प्रतिबद्धता जताई थी.

इससे भारतीय उद्योगपतियों में काफ़ी उत्साह है और उन्हें उम्मीद है कि पाक यात्रा के दौरान नकारात्मक सूची की घोषणा हो सकती है. अगर ऐसा होता है तो पाकिस्तान के बाजारों में भारतीय वस्तुओं की उपलब्धता बढ़ेगी.

दौरे से पहले आनंद शर्मा ने संवाददाताओं से हुए कहा कि पिछले नवंबर में पाक वाणिज्य सचिव ने नकारात्मक सूची जारी करने का आश्वासन दिया था. इसलिए उम्मीद बरकरार है.

मोस्ट फेवर्ड नेशन

फिलहाल भारत केवल 1946 वस्तुओं का निर्यात पड़ोसी देश को कर सकता है जबकि भारत की ओर से पाक को मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा मिलने की वजह से वह करीब-करीब सभी वस्तुओं का निर्यात भारत को कर सकता है. हालांकि भारत की ओर से आयात प्रतिबंधित वस्तुओं की एक नकारात्मक सूची भी है.

भारत को मोस्ट फेवर्ड नेशन देश के दर्जे के बाद दोनों पक्षों को बराबर के अधिकार होंगे.

वाणिज्य मंत्री के इस दौरे के दौरान बहु-प्रवेशीय वीज़ा पर भी बातचीत होगी.

भारतीय उद्योग मंत्री पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ रज़ा गिलानी और राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी से भी भेंट करेंगे.

वह इस्लामाबाद में 16 फरवरी को दक्षिण एशिया मुक्त व्यापार व्यवस्था यानी साफ्टा की मंत्रिस्तरीय परिषद की छठी बैठक को भी संबोधित करेंगे.

शर्मा और उनके पाकिस्तानी समकक्ष मख़दूम अमीन फ़हीम सोमवार की सुबह अटारी-वाघा सीमा पर समन्वित जांच चौकी की प्रगति देखेंगे.

संबंधित समाचार