राहुल गांधी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज

  • 20 फरवरी 2012
राहुल गाँधी इमेज कॉपीरइट AP
Image caption राहुल गाँधी उत्तर प्रदेश में कई महीनों से चुनाव प्रचार में जुटे हैं.

कानपुर में रोडशो कर रहे कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है. राहुल गांधी के अलावा रोडशो के आयोजकों पर भी केस किया गया है.

एडीएम, कानपुर सिटी शैलेंद्र सिंह ने बीबीसी से हुई बातचीत में इसकी पुष्टि की है और कहा है कि अब इसके आगे का फ़ैसला अदालत लेगी.

कानपुर सर्किट हाउस पुलिस चौकी में यह मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने धारा 188, 283 और 290 के तहत मामला दर्ज किया है.

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी पर निषेधाज्ञा का उल्लंघन और जनता को असुविधा पहुँचाने का आरोप लगाया गया है.

इन धाराओं के तहत छह महीने की सजा और अर्थदंड का प्रावधान है.

कानपुर के ज़िलाधिकारी हरी ओम ने बताया है कि उन्होंने इसकी रिपोर्ट मुख्य निर्वाचन अधिकारी को भेज दी है.

आरोप

दरअसल कानपुर और आसपास के इलाक़ों में 23 फरवरी को मतदान है और मंगलवार को चुनाव प्रचार का आखिरी दिन है. इसके तहत सभी पार्टियाँ आख़िरी दौर में धुँआधार प्रचार कर रही हैं.

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने भी कानपुर में सोमवार को बड़ा रोडशो किया. ज़िलाधिकारी के मुताबिक़ राहुल गांधी के रोडशो के लिए जो समयसीमा और दूरी तय की गई थी, उसका सही-सही पालन नहीं किया गया है.

ज़िला प्रशासन का कहना है कि पहले राहुल गांधी के रोडशो के लिए 10 बजे से 12 बजे तक का समय दिया गया था, लेकिन राहुल गांधी का रोडशो साढ़े 10 बजे शुरू हुआ और तीन बजे समाप्त हुआ. आरोप ये है कि रोडशो के लिए तय मार्ग में भी फेरबदल किया गया.

ज़िला प्रशासन ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन बताया है.

हालाँकि कांग्रेस के नेता इससे परेशान नहीं लगते. कानपुर से सांसद और केंद्रीय मंत्री श्रीप्रकाश शुक्ल का कहना है कि कानपुर प्रशासन उनके ख़िलाफ़ एफआईआर करके दिखाए, क्योंकि उन्होंने ही राहुल गांधी को रोडशो के लिए बुलाया था.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार