भाजपा से भगवान राम नाराज़: कल्याण सिंह

  • 29 फरवरी 2012
कल्याण सिंह इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption कल्याण सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने कहा है कि भगवान राम भारतीय जनता पार्टी से नाराज़ हैं और विधानसभा चुनाव में कमल का फूल (भाजपा का चुनाव चिन्ह) नहीं खिलेगा.

बदायूँ में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कल्याण सिंह ने कहा, "भाजपा भ्रष्ट लोगों का अड्डा बन गई है. भगवान राम भाजपा से नाराज़ हैं और इस चुनाव में कमल का फूल नहीं खिलने वाला है."

कल्याण सिंह भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता रह चुके हैं और राज्य के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं.

उमा भारती के उस बयान पर कि वे कल्याण सिंह की उत्तराधिकारी हैं, कल्याण सिंह ने कहा कि उमा भारती कभी उनकी उत्तराधिकारी नहीं हो सकती.

आरोप

कल्याण सिंह ने कांग्रेस की भी जम कर आलोचना की और कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और महासचिव राहुल गांधी इतने वर्षों में रायबरेली और अमेठी का सुधार नहीं कर पाए, पार्टी को ये बताना चाहिए कि वे उत्तर प्रदेश में कैसे बदलाव करेंगे.

उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस, सपा और बसपा के बीच तालमेल है.

छह दिसंबर 1992 में जब अयोध्या में बाबरी मस्जिद गिराई गई थी, उस समय कल्याण सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे. लेकिन केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को बर्ख़ास्त कर दिया.

कल्याण सिंह ने पहली बार वर्ष 1999 में भाजपा छोड़ी थी. लेकिन वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव से पहले वे फिर से पार्टी में शामिल हुए. वर्ष 2009 में एक बार फिर उन्होंने भाजपा छोड़ दी. समाजवादी पार्टी से उनकी नज़दीकी बढ़ी और उनके बेटे राजवीर सिंह समाजवादी पार्टी में शामिल भी हुए.

लेकिन समाजवादी पार्टी से उनके रिश्ते बिगड़े और वर्ष 2010 में कल्याण सिंह ने जनक्रांति पार्टी बनाई और उनकी पार्टी मौजूदा विधानसभा चुनाव में अपने दम पर कई सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

संबंधित समाचार