'नतीजे से पहले मैन ऑफ़ द मैच बने अखिलेश'

अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश चुनाव के आधिकारिक परिणाम आने में अभी कई घंटे बाकी हैं. लेकिन सभी न्यूज चैनलों के सर्वेक्षणों में समाजवादी पार्टी को निर्णायक बढ़त दिखाए जाने से विक्रमादित्य मार्ग पर मीडिया वालों और लोगों की चहल-पहल बढ़ गई है.

अनेक महत्वपूर्ण लोग गुलदस्ता लेकर मुलायम सिंह यादव को अग्रिम बधाई देने पहुँच रहे हैं. भीड़ को संभालना सुरक्षा बलों के लिए मुश्किल हो रहा था.

लेकिन मुलायम सिंह सारे पत्रकारों से यह कहकर हाथ जोड़ते हैं कि छह मार्च को गिनती होने दीजिए. ऐसे में अखिलेश यादव ने ही बड़ी संख्या में पहुंचे पत्रकारों के सवाल झेले. वह उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष हैं.

इस चुनाव में लगातार प्रचार अभियान और जन संपर्क से अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के नए नेता बनकर उभरे हैं और माना जाता है कि पार्टी की रीति-नीति तय करने में अब उनका ही निर्णय अंतिम होता है.

छवि

पत्रकार उन्हें 'मैन ऑफ द मैच या गेम चेंजर' की उपाधि दे रहे हैं क्योंकि अखिलेश ने न केवल नए लोगों को पार्टी से जोड़ा है बल्कि उसकी छवि को भी बदला है.

बीबीसी से बातचीत में अखिलेश यादव ने जोर देकर कहा है कि इस बार सरकार बनी तो किसी को कानून का उल्लंघन, दबंगई या गुंडई नही करने दी जाएगी और भ्रष्टाचार पर रोक लगाकर उत्तर प्रदेश को तेजी से खुशहाली के रास्ते पर ले जाया जाएगा.

अखिलेश का कहना है कि लोगों को रोजगार देने के लिए उद्योग कारखाने लगाने वाले उद्योगपतियों का स्वागत किया जाएगा

उन्होंने कहा, "समाजवादी पार्टी ने पिछले पांच साल लगातार संघर्ष किया, बड़े पैमाने पर कार्यकर्ता सरकार की ओर से अपमानित किए गए. अब परिणाम आने वाले हैं. हमें भरोसा है कि सपा के पक्ष में परिणाम आएँगे और सरकार बनेगी."

अखिलेश का कहना है कि जनता ने इतना समर्थन दिया है कि बहुमत की सरकार बनेगी.

घोषणा

उनका कहना है कि समाजवादी पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में किसानों और नौजवानों की खुशहाली, अच्छी सड़कों , दवाई और रोजगार के लिए अपने घोषणा पत्र में जो वादा किया है, उसी के कारण बहुमत मिलने जा रहा है.

पिछली सरकार में गुंडई के आरोपों की याद दिलाने पर अखिलेश यादव ने कहा, "इस बार नेता जी और पार्टी ने तय किया है कि कोई भी अगर कानून का उल्लंघन करेगा, चाहे गुंडई हो या दबंगई की बात हो चाहे भाषा से किसी को अपमानित करने की बात हो उसको रोका थामा जाएगा."

अखिलेश का कहना है कि सरकार बनने पर पहला काम पिछले पांच सालों में बढे भ्रष्टाचार को रोककर उत्तर प्रदेश को तेजी से खुशहाली की और ले जाना होगा.

आम तौर पर कहा जा रहा है कि समाजवादी पार्टी को अकेले बहुमत नहीं मिलेगा और उसे कांग्रेस, लोक दल या दूसरे छोटे दलों का समर्थन लेना पडेगा, लेकिन अखिलेश यादव का कहना है कि सरकार बनाने के लिए वे अभी किसी से संपर्क नही कर रहे हैं क्योंकि पार्टी को भरोसा है कि अकेले सरकार बनेगी.

संबंधित समाचार