अमरीका में 2.40 लाख अवैध अप्रवासी भारतीय

  • 24 मार्च 2012
अवैध अप्रवासी इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption दस वर्षों में अमरीका में अवैध ढंग से रह रहे भारतीयों की संख्या दोगुनी हुई है

ताजा सरकारी आंकड़ों के अनुसार भारत के लगभग दो लाख 40 हज़ार अप्रवासी उन 1.15 करोड़ विदेशियों में शामिल हैं जो अमरीका में गैर-कानूनी तरीके से रह रहे हैं.

अमरीका के आंतरिक सुरक्षा विभाग यानी वहाँ के गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार ये सभी लोग बिना जायज दस्तावेजों के वहां रह रहे हैं.

रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2000 और 2011 के बीच गुप्त तरीके से अमरीका में आने वाले भारतीयों की संख्या दोगुनी हुई है.

इस दौरान गैर-कानूनी तरीके से रहने वाले विदेशियों की संख्या 80.46 लाख से बढ़ कर 1.15 करोड़ हो गई है.

ग़ैरकानूनी अप्रवासियों की सूची में भारत सातवें स्थान पर हैं.

जबकि मैक्सिको (60 लाख से ज्यादा) शीर्ष पर है. इसके बाद इस सूची में सल्वाडोर (छह लाख 60 हजार) ग्वाटेमाला (पांच लाख 20 हजार) और होंडूरास (तीन लाख 80 हजार) आते हैं.

चीन पांचवें स्थान पर

चीन इस सूची में पांचवे स्थान पर है हालांकि दो लाख 80 हजार गैर-कानूनी अप्रवासियों के साथ एशियाई देशों में वह सबसे ऊपर है जबकि फिलिपींस (दो लाख 70 हजार) छठे स्थान पर है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार एक करोड़ 15 लाख गैर-कानूनी अप्रवासियों में से 14 प्रतिशत यानी 16 लाख लोग पहली जनवरी 2005 या उसके बाद अमरीका में दाखिल हुए.

साल 2000-2004 के दौरान 29 प्रतिशत और साल 1995-1999 के दौरान 26 प्रतिशत लोग यहां दाखिल हुए.

गैर-कानूनी अप्रवासी लोगों में से लगभग 89 लाख लोग (यानि 77 प्रतिशत) उत्तरी अमरीका (जिनमें कनाडा, मैक्सिको और कैरिबियन शामिल है) और सैंट्रल अमरीका से हैं.

इसके बाद एशिया (13 लाख) और दक्षिण अमरीका (आठ लाख) के लोग आते हैं.

संबंधित समाचार