जेब पर पड़ेगा बजट बदलावों का असर

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption एसी-1 और एसी-2 में सफर महंगा होगा

एक अप्रैल से नया वित्त वर्ष शुरु होते ही लोगों पर महंगाई का बोझ बढ़ने वाला है. रेल यात्रा से लेकर सजन संवरना सब कुछ महंगा हो गया है.

इस बार के बजट में सेवा कर 10 फ़ीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया गया है. इसका सीधा असर आम आदमी की जरूरतों पर पड़ेगा.

रेल यात्रा, हवाई यात्रा, क्रेडिट कार्ड से भुगतान, रेस्तरां में खाना ...सबके लिए जेब हल्की करनी होगी.

एसी फर्स्ट क्लास में 30 पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी होगी तो एसी सैकेंड के किराए में 15 पैसे प्रति किलोमीटर की. वहीं प्लैमटफ़ॉर्म टिकट भी अब तीन के बजाए पांच रुपए में खरीदना पड़ेगा.

बिजली, सीमेंट, रेडीमेड गारमेंट....सब पर महंगाई की मार पड़ेगी.

हवाई यात्रा की टिकट पर भी अतिरिक्त सेवा कर देना होगा. जबकि विमान ईंधन का दाम भी बढ़ चुका है.

सौंदर्य प्रसाधन से जुड़ी चीजों के लिए अब एक अप्रैल से ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी यानी ब्यूटी पार्लर जाना और भी महंगा पड़ेगा.

इसके अलावा लाइफ इंश्योरेंस और मोटर इंश्योरेंस महंगा होगा. हालांकि कुछ चीज़ों में राहत भी मिलेगी. पोस्ट ऑफिस डिपॉजिट और पीपीएफ में लोगों को ज्यादा ब्याज मिलेगा.

इसके अलावा चेक की वैधता छह महीने से घटकर तीन महीने हो जाएगी. इक्साइज़ ड्यूटी भी 10 प्रतिशत से बढ़कर 12 प्रतिशत हो रही है.

संबंधित समाचार