पाकिस्तान पर सईद के खिलाफ कार्रवाई का दबाव बढ़ेगा: भारत

हाफिज सईद इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption भारत हाफिज सईद को मुंबई हमलों का मास्टर माइंड मानता है

पाकिस्तान में सक्रिय संगठन 'जमात उद दावा' के प्रमुख हाफिज सईद पर अमरीका की ओर से 50 करोड़ रुपए का इनाम घोषित करने का भारत ने स्वागत किया है.

भारत सरकार ने कहा है कि इस घोषणा से पाकिस्तान सरकार पर दबाव बढ़ेगा कि वह हाफिज सईद को गिरफ्तार करे और उन पर मुक़दमा चलाए.

भारत सरकार की ओर से कहा गया है कि वह पाकिस्तान को मुंबई हमलों में हाफिज सईद की भूमिका को लेकर पर्याप्त सबूत उपलब्ध करवा चुका है जिसके आधार पर उन्हें हिरासत में लेकर उनके खिलाफ मुकदमा चलाया जा सके.

इनाम की घोषणा इस वक़्त क्यों: विश्लेषण

हालांकि जमात उद दावा ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अमरीका के इस कदम को इस्लाम और मुसलमानों पर एक और हमला करार दिया है.

भारत विरोधी बयानों के लिए पहचाने जाने वाले हाफिज सईद लश्कर-ए-तैबा के प्रमुख भी रहे हैं.

भारत हाफिज सईद को 26 / 11 को मुंबई पर हुए हमले का 'मास्टरमाइंड' मानता है.

'पाकिस्तान से फिर बात करेंगे'

भारत के विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने पत्रकारों से हुई बातचीत में कहा है कि भारत अमरीका की ओर से उठाए गए इस क़दम का स्वागत करता है.

उन्होंने कहा, "आतंक के खिलाफ संघर्ष में भारत और अमरीका साथ में काम करते रहे हैं. वो भी आतंकवाद के शिकार रहे हैं और भारत भी बार-बार इसका शिकार होता रहा है, ऐसी स्थिति में भारत अमरीका के इस क़दम का स्वागत करता है."

उन्होंने कहा, "इससे लश्कर-ए-तैबा, इसके सदस्यों और इसको संरक्षण देने वालों को एक संदेश गया है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय आतंक के खिलाफ लड़ाई में एकजुट है."

दूसरी ओर केंद्रीय गृहमंत्री पी चिदंबरम ने दिल्ली में पत्रकारों से कहा कि हाफिज सईद को हिरासत में लेकर पूछताछ करने के लिए पर्याप्त सबूत मौजूद हैं लेकिन 'पाकिस्तान अपना काम नहीं कर रहा है'.

उन्होंने कहा, "इस घोषणा का सबसे अहम हिस्सा ये है कि इससे पाकिस्तान पर ये दबाव पड़ेगा कि वह हाफिज सईद के खिलाफ कार्रवाई करे और मैं उम्मीद करता हूँ कि पाकिस्तान अब पाकिस्तान कार्रवाई करेगा."

उनका कहना था कि पाकिस्तान 'कार्रवाई करने का नाटक' बहुत दिनों तक नहीं चलाते रह सकता.

हाफिज सईद: धार्मिक नेता या आतंकवादी?

चिदंबरम ने एक बार फिर उन सबूतों का विवरण दिया जो भारत हाफिज सईद के खिलाफ पाकिस्तान को उपलब्ध करवा चुका है.

उनका कहना था कि अमरीका के इस कदम से भारत के लिए अमरीका को हाफिज सईद और जमात उद दावा के बारे में जानकारियाँ उपलब्ध करवाना आसान हो जाएगा.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जिस भी मंच पर मौका मिलेगा भारत पाकिस्तान पर हाफिज सईद के खिलाफ कार्रवाई करने का दबाव बनाएगा.

संबंधित समाचार