रिश्वत मामले में बंगारू लक्ष्मण दोषी करार

  • 27 अप्रैल 2012
इमेज कॉपीरइट AP
Image caption तहलका डॉट कॉम के आरोपों की वजह से बंगारु लक्ष्मण को इस्तीफा देना पड़ा था

भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष बंगारू लक्ष्मण को वर्ष 2001 में एक लाख रूपए की रिश्वत लेने के मामले में दिल्ली की एक अदालत ने दोषी करार दिया गया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, अदालत ने बंगारू लक्ष्मण को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. उन्हें शनिवार सुबह अदालत में दोबारा पेश किया जाएगा. तभी उन्हें सजा भी सुनाई जाएगी.

अदालत के फैसले के बाद 72 वर्षीय बंगारू को तिहाड़ जेल ले जाया गया है.

भाजपा के वरिष्ठ नेता विनय कटियार ने अदालत के फैसले पर कहा है कि वे फैसले की पूरी कॉपी देखने के बाद ही कोई प्रतिक्रिया देंगे.

भाजपा राजनीति में भूचाल

तहलका डॉट कॉम ने वर्ष 2001 में रक्षा सौदों में धांधली के गंभीर आरोप लगाए थे.

तत्कालीन रक्षा मंत्री जॉर्ज फ़र्नांडीस और वरिष्ठ सैन्य अधिकारी पर भी आरोप लगे थे.

एक स्टिंग ऑपरेशन में बंगारू लक्ष्मण को भाजपा मुख्यालय स्थित अपने कमरे में रिश्वत लेते दिखाया गया था. तहलका ने जब इसके वीडियो टेप जारी किए, तो भारतीय राजनीति में भूचाल आ गया था.

स्टिंग ऑपरेशन की वजह से सत्तारुढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के प्रमुख घटक दल भारतीय जनता पार्टी के तत्कालीन अध्यक्ष बंगारू लक्ष्मण को इस्तीफा देना पड़ा था.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार