मध्यस्थों की पहली बैठक बेनतीजा

  • 27 अप्रैल 2012
इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सरकार मेनन की रिहाई के लिए पूरी कोशिश कर रही है

छत्तीसगढ़ के बस्तर से अगवा किए गए जिलाधीश एलेक्स पॉल मेनन की रिहाई के लिए छत्तीसगढ़ की सरकार और माओवादियों की ओर से नियुक्त मध्यस्थों की पहले चरण की वार्ता बेनतीजा खत्म हो गई है.

गुरुवार को लगभग तीन घंटों तक चली बातचीत के बाद राज्य सरकार की ओर से मनोनीत मध्यस्थ निर्मला बुच ने कहा कि वार्ता 'अच्छे वातावरण' में हुई और कई मुद्दों पर चर्चा की गई.

मगर उन्होंने यह बताने से इनकार कर दिया कि किन मुद्दों पर चर्चा की गई.

बस्तर के सुकमा जिले के जिलाधीश का गत शनिवार को माओवादियों ने अपहरण कर लिया था. उनकी रिहाई के बदले माओवादियों ने कई शर्तें रखी हैं, जिनमें ऑपरेशन ग्रीन हंट बंद करना और उनके कई साथियों की रिहाई शामिल है.

वार्ता जारी रहेगी

Image caption बीडी शर्मा ने सरकार से ऑपरेशन ग्रीन हंट बंद करने की अपील की है

कहा गया है कि बातचीत शुक्रवार को जारी रहेगी.

सरकार की ओर से नियुक्त मध्यस्थ निर्मला बुच मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्य सचिव हैं.

उनके अलावा राज्य सरकार ने माओवादियों की शर्तों पर विचार करने के लिए छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्य सचिव सुयोग्य मिश्र को भी अपनी तरफ से वार्ताकार नियुक्त किया है.

माओवादियों के तरफ से पूर्व आईएएस अधिकारी बीडी शर्मा और सामाजिक कार्यकर्ता प्रोफेसर हरगोपाल को वार्ताकार नियुक्त किया गया है.

'तबियत ठीक'

इससे पहले गुरूवार की सुबह जिलाधीश के लिए दवा लेकर जंगलों में गए सीपीआई के नेता मनीष कुंजाम वापस लौट आए.

उनका कहना है कि मेनन की तबियत 'फिलहाल ठीक है' हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उनकी मुलाक़ात मेनन से नहीं हुई.

कुंजाम का कहना था कि दवाएं मेनन तक पहुँच गई हैं.

माओवादियों की ओर से अपनी मांगे पूरी करने के लिए राज्य सरकार के समक्ष तय की गई समय सीमा बुधवार की रात समाप्त हो गई है.

उम्मीद की जा रही थी कि माओवादी मनीष कुंजाम के हाथों कोई संदेश भेजेंगे. मगर ऐसा नहीं हुआ.

समय सीमा के समाप्त होने और माओवादियों की तरफ से कोई नए संदेश की बात पूछे जाने पर कुंजाम ने कहा कि चूँकि उन्होंने माओवादियों का वार्ताकार होने से इनकार कर दिया था इसलिए उनके लिए इस बारे में कुछ भी कहना मुनासिब नहीं होगा.

कुंजाम ने मेनन की पत्नी आशा मेनन से सुकमा में बातचीत की. इस बातचीत का विवरण भी कुंजाम ने सार्वजनिक नहीं किया है.

संबंधित समाचार