राष्ट्रपति चुनाव को लेकर गतिविधियां तेज

  • 3 मई 2012
ममता बनर्जी इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption दिल्ली पहुंची ममता बनर्जी ने राष्ट्रपति पद के लिए उठ रहे नामों पर टिप्पणी से इंकार किया.

भारत के राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए राजनीतिक गतिविधियां तेज़ हो गई हैं. गुरुवार को सीपीएम ने कहा है कि अगले राष्ट्रपति के चुनाव के लिए आम राय कायम किए जाने की ज़रुरत है.

मीडिया में आ रही ख़बरों के अनुसार सत्तारूढ़ गठबंधन में राष्ट्रपति पद के लिए वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी और उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी के नामों पर चर्चा हो रही है.

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष का कहना है कि एनडीए की बैठक के बाद ही वे राष्ट्रपति चुनाव के विषय में कुछ निर्णय ले पाएंगे.

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी ने कहा है कि कांग्रेस ने देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी से राष्ट्रपति चुनाव के बारे में कोई चर्चा नहीं की है.

गडकरी ने कहा कि एनडीए की बैठक के बाद ही वे इस विषय पर वे अपना निर्णय स्पष्ट करेंगे.

उन्होंने कहा, “एनडीए के घटक दलों और देश के अन्य क्षेत्रीय दलों के साथ बातचीत की जाएगी. हमारा किसी व्यक्ति के बारे में आग्रह भी नहीं और विरोध भी नहीं. एनडीए के प्रमुख लोगों से चर्चा के बाद ही हम इस विषय पर अपना रुख स्पष्ट करेंगे.”

उधर सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने कहा है कि मुद्दा ये नहीं है कि कौन-से नाम इस दौड़ में सामने आ रहे हैं बल्कि ये है कि किस नाम पर आम सहमति बनती है.

उन्होंने कहा, “हामिद साहब का नाम उप-राष्ट्रपति पद के लिए वामपंथियों ने ही सुझाया था. प्रणब मुखर्जी का नाम पिछली बार भी उठा था और तब भी हमने यही कहा था कि हमें कोई आपत्ति नहीं है. लेकिन अहम बात ये है कि आखिरकार किस नाम पर सहमति बनती है.”

प्रणब मुखर्जी को छोड़ना आसान नहीं

उधर कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने कहा है कि प्रणब मुखर्जी को छोड़ना उनकी पार्टी के लिए आसान नहीं होगा.

उन्होंने कहा कि मुखर्जी पार्टी के लिए एक बहुमूल्य व्यक्ति हैं.

रेणुका चौधरी ने कहा, “मेरे पास ये कहने का अधिकार नहीं है कि उनका नाम भी इस दौड़ में है लेकिन अगर अफ़वाहें उड़ रहीं हैं तो मैं कहना चाहूंगी कि प्रणब दा हमारे लिए एक ही मूल्यवान मार्गदर्शक हैं.”

दिल्ली पहुंची पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी और से किसी का नाम फिलहाल नहीं सुझाया है.

राष्ट्रपति पद के लिए उनकी पार्टी की ओर से किसी नाम के सुझाव के प्रश्न को उन्होंने टाल दिया है.

समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि जब तक किसी उम्मीदवार की औपचारिक घोषणा नहीं हो जाती उनकी पार्टी टिप्पणी नहीं करेगी.

संबंधित समाचार