नए राष्ट्रपति के नाम पर अभी भी स्थिति साफ नहीं

राष्ट्रपति भवन

भारत के अगले राष्ट्रपति के पद के लिए शुक्रवार को भी स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई है.

कांग्रेस या यूपीए ने अब तक किसी नाम की घोषणा नहीं की है और विपक्ष भी फिलहाल अपने पत्ते नहीं खोल रहा है.

पिछले हफ़्ते से मीडिया के जरिए वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी और वर्तमान उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का नाम सामने आ रहा है लेकिन अब तक सत्तारूढ़ गठबंधन ने आधिकारिक रूप से किसी के नाम की घोषणा नहीं की है.

विपक्ष भी फिलहाल अपने पत्ते नहीं खोल रहा है. भारतीय जनता पार्टी कह चुकी है कि राजग (एनडीए) की बैठक में सहयोगी दलों में बातचीत के बाद ही इस विषय पर कुछ टिप्पणी दी जाएगी.

यूपीए की घोषणा का इंतजार

इस बीच भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) के नेता एबी बर्धन ने दिल्ली में पत्रकारों को बताया,“ हम सेक्यूलर विपक्षी दलों के साथ बातचीत करेंगे. कई नाम सामने आ सकते हैं. अब तक हमने किसी एक उम्मीदवार के बारे में नहीं सोचा है.”

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव भी अब तक राष्ट्रपति चुनाव के मुद्दे पर साफ़-साफ़ कुछ नहीं कह रहे हैं. गुरुवार को उनकी ममता बनर्जी से मुलाकात हुई थी और शुक्रवार को वे सीपीआई नेता डी राजा से मिले थे.

लेकिन गुरुवार को मुलायम सिंह यादव इस मुद्दे पर कुछ कहने से बचते रहे.

उन्होंने कहा, “मेरे पास फिलहाल कोई खबर नहीं है. जब खबर होगी तो बिना पूछे आपको बताएंगे. अभी तो मैंने किसी का नाम नहीं सुना है. अगर आपको नाम पता है तो बता दीजिए फिर हम कुछ कह देंगे. ”

उधर भारतीय जनता पार्टी ने फिर दोहराया है कि राष्ट्रपति का चुनाव आम सहमति से होना चाहिए. पार्टी के नेता मुख़्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि यूपीए अगर किसी नाम को सार्वजनिक करती है तभी वो उसपर प्रतिक्रिया दे सकते हैं.

'धीरज से काम लें'

उन्होंने कहा, “हमारा मानना है कि आम सहमति हो. आम सहमति से चुनाव हो तो वो सबसे आदर्श स्थिति होगी. लेकिन ये यूपीए और कांग्रेस के रूख पर निर्भर करेगा.”

ममता बनर्जी ने भी शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस के उम्मीदवार की घोषणा के बाद ही वे कुछ कह पाएंगी.

लेकिन कांग्रेस ने अब तक राष्ट्रपति पद के लिए कोई नाम सार्वजनिक नहीं किया है. पार्टी के नेता और केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व इस मुद्दे पर सबसे सलाह कर रहा है.

सलमान खुर्शीद ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि इस सवाल पर कोई अंतिम निर्णय लिया गया है. और जैसे कि कांग्रेस अध्यक्षा ने कहा है – धैर्य रखें. मुझे यकीन है बहुत जल्द हमको इसके बारे में पता चल जाएगा.”

गौरतलब है कि मनीला में एशिया विकास बैंक की बैठक में जाते हुए प्रणब मुखर्जी ने कहा था कि उनकी उम्मीदवारी की खबरें अटकलबाजी है और वे इस पर कोई बयान नहीं देंगे.

संबंधित समाचार