राज्यसभा चुनाव मामले में सीबीआई के छापे

  • 18 मई 2012
सीबीआई
Image caption सीबीआई ने झारखंड और कोलकाता में कई स्थानों पर छापे मारे हैं.

झारखंड में राज्यसभा चुनावों के दौरान कथित धांधली के मामले में झारखंड के कई शहरों और कोलकाता में सीबीआई की छापेमारी चल रही है.

बीबीसी संवाददाता सलमान रावी ने जानकारी दी है कि कुल 14 लोगों के यहां छापामारी चल रही है और छापामारी तड़के ही शुरु हो गई थी.

जिन लोगों के यहां छापामारी चल रही है उनमें झामुमो नेता शिबू सोरेन की बहू और विधायक सीता सोरेन और अख़बार रांची एक्सप्रेस समूह के संपादक पवन मारु मुख्य हैं.

सीता सोरेन भी विधायक हैं.

इसके अलावा कांग्रेस और बीजेपी के कुछ विधायकों के यहां भी छापामारी हुई है.

कोलकाता के अलावा झारखंड के जमशेदपुर, चतरा, गोड्डा, हजारीबाग, बांका और गिरिडीह में छापे मारे जा रहे हैं.

उल्लेखनीय है कि राज्यसभा चुनावों में कथित धांधली को लेकर 21 अप्रैल को भी सीबीआई ने छापे मारे थे. 21 अप्रैल को झामुमो के विष्णु भइया, कांग्रेस के केएन त्रिपाठी और राजद के सुरेश पासवान के यहां छापे मारे गए थे.

चुनाव पर विवाद

ये मामला इसी मार्च का है जब राज्यसभा के चुनाव होने थे.

30 मार्च को राज्यसभा चुनाव के दिन आयकर विभाग ने निर्दलीय उम्मीदवार आरके अग्रवाल के सहयोगी की कार से दो करोड़ 15 लाख रुपए बरामद किए थे और ये पैसे कथित तौर पर ये पैसे विधायकों-सांसदों को दिए जाने थे.

निर्दलीय उम्मीदवार पवन धूत पर भी पैसे देने का आरोप लगा था. इस घटना के बाद चुनाव आयोग ने रातोरात चुनाव निरस्त कर दिए थे.

इसके बाद दोबारा चुनाव तीन मई को हुए जिसमें परिणाम अप्रत्याशित रहे.

झारखंड में बीजेपी की सरकार है लेकिन इसके बावजूद बीजेपी के उम्मीदवार और वरिष्ठ नेता एसएस अहलूवालिया चुनाव हार गए और कांग्रेस के उम्मीदवार प्रदीप बालमुचु को जीत मिली.

संबंधित समाचार