पॉमबाश को ज़मानत, भारत ना छोड़ने की शर्त

ल्यूक पॉमबाश इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption पॉमबाश को 30 हज़ार के निजी मुचलके पर मिली अदालत

दिल्ली की एक अदालत ने ल्यूक पॉमबाश को ज़मानत दे दी है लेकिन वे बिना इजाजत भारत छोड़कर नहीं जा सकते. उन्हें तीस हज़ार के निजी मुचलके पर रिहा किया गया है, साथ ही उनका पासपोर्ट भी जमा करवाया जा रहा है.

इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलने वाले ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ल्यूक पॉमबाश पर आरोप है कि उन्होंने 17 मई की शाम दिल्ली में अमरीकी महिला जोहल हमीद के साथ छेड़छाड़ की.

जोहल हमीद का आरोप है कि लूक पॉमबाश ने उनके साथ एक पांच सितारा होटल में छेड़छाड़ के अलावा उनके मंगेतर के साथ मारपीट भी गई.

उधर जोहल हमीद के मित्र साहिल पीरजादा दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती हैं.

'साहिल के कान में सूजन'

अस्पताल के एक डॉक्टर ने पत्रकारों को बताया, “साहिल की हालत अब स्थिर है. वो रात को आराम से सोए हैं. उनके कान पर चोट लगी थी जिसकी हमने कल सर्जरी की थी, अब वो जख्म ठीक हो रहा है. लेकिन उनके कान के अंदर हल्की सी सूजन है. जिसकी वजह से उन्हें सुनने में थोड़ी परेशानी हो रही थी, वो दिक्कत अब लगभग सुधर गई है.”

डॉक्टर ने बताया कि रविवार शाम तक साहिल पीरजादा अस्पताल से छुट्टी मिल सकती है.

उधर इस घटना पर सिद्धार्थ माल्या की प्रतिक्रिया एक अलग विवाद में बदलती नज़र आ रही है.

सिद्धार्थ के ट्वीट पर विवाद

इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए सिद्धार्थ माल्या ने शुक्रवार को ट्वीट किया था, “वो लड़की जो ल्यूक पर आरोप लगा रही है कि उसने उसके मंगेतर के साथ मारपीट की....क्या बकवास है..वह बीती रात मेरे पीछे पड़ी रही और मुझसे मेरा बीबीएम (ब्लैकबेरी मैसेंजेर) पिन भी मांगा...यदि वह उसका मंगेतर था तो वह (लड़की) भावी पत्नी की तरह तो व्यवहार नहीं कर रही थी.”

जोहल हमीद के वकील ने इस ट्वीट के बाद सिद्धार्थ माल्या को मानहानि का नोटिस भेज दिया है.

साथ ही जोहल हामिद दिल्ली महिला आयोग की वर्षा सिंह से मिली हैं. उन्होंने अपनी लिखित शिकायत आयोग को दी है.

इसके अलावा सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट ट्विटर पर भी माल्या के इस ट्वीट की कड़ी आलोचना हो रही है.

संबंधित समाचार