भारतीय कश्मीर में पुलिस ने रैली रोकी, कई गिरफ्तारियां

कश्मीर इमेज कॉपीरइट AP

भारत प्रशासित कश्मीर में पुलिस ने अलगाववादी संगठन हुर्रियत कांफ्रेंस की एक रैली को रोक दिया है. पुलिस ने रात को श्रीनगर शहर के कई हिस्सों में छापे मारकर कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया है.

अलगाववादी संगठन हुर्रियत कांफ्रेंस ने सोमवार को बंद का आहवान किया है और लोगों से श्रीनगर के एक कब्रिस्तान में जमाकर होकर सामुहिक प्रार्थना में हिस्सा लेने को कहा है.

ये रैली मौलाना फारुक और अब्दुल गनी लोन की पुण्यतिथियों की याद में आयोजित की जा रही थी. इन दोनों नेताओं की अज्ञात लोगों ने हत्या कर दी थी.

रैली पर रोक की कोई आधाकारिक घोषणा नहीं की गई थी लेकिन अर्धसैनिक बलों और पुलिस की कब्रिस्तान के आस-पास भारी मौजूदगी थी.

हुर्रियत कांफ्रेस के नेता मीरवायज उमर फारुक ने बीबीसी को बताया, “सरकार लोकतंत्र की सुरक्षा का दावा करती है लेकिन हमारा शांतिपूर्ण मार्च रोका जा रहा है. बीती रात कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है और हमारे घरों को घर लिया गया है. ये शांति प्रक्रिया के साथ मजाक है. ”

मीरवायज अलगाववादी संस्था हुर्रियत कांफ्रेंस के उस गुट के नेता हैं जो भारत के साथ बातचीत का हिमायती है और ये गुट कई बार वार्ताओं में हिस्सा भी ले चुका है.

इसबीच बंद और सुरक्षा इंतजाम के कारण घाटी में आम जनजीवन प्रभावित रहा है. स्कूल और दुकानें बंद हैं लेकिन सरकारी कर्मचारियों को सरकारी गाड़ियों में दफ़्तर पहुंचाया गया है.

संबंधित समाचार