जनरल वीके सिंह आज सेवानिवृत होंगे

वीके सिंह इमेज कॉपीरइट AP
Image caption सेना में 42 वर्ष तक योगदान देने के बाद 62 वर्षीय वीके सिंह सेवानिवृत हो रहे है.

छब्बीस महीने पहले सेना की बागडोर संभालने वाले जनरल वीके सिंह का विवादास्पद कार्यकाल आज समाप्त हो जाएगा.

यह दौर उनके उम्र से जुड़े विवाद और सैन्य अधिकारियों के बीच दरार के कारण भी याद रखा जाएगा.

सेना में 42 वर्ष तक योगदान देने के बाद 62 वर्षीय वीके सिंह सेवानिवृत हो रहे है.

उनका स्थान सेना की पूर्वी कमान के कमांडर जनरल बिक्रम सिंह लेंगे.

सेना प्रमुख के रूप में जनरल बिक्रम सिंह का कार्यकाल दो वर्ष और तीन महीने तक होगा.

जनरल वीके सिंह ने सेना प्रमुख के रूप में 31 मार्च 2010 को कार्यभार संभाला था और उनकी छवि एक ईमानदार, दृढ़ और भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान चलाने वाले अधिकारी की रही है.

विवाद

उनके कार्यकाल से उम्र से जुड़े मामले समेत कई विवाद जुड़े रहे हैं. इसके चलते ये चर्चा होती रही है कि उनके संबंध रक्षा मंत्रालय से ठीक नहीं है. हालांकि इस तरह की अटकलों को उन्होंने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में खारिज किया था.

पहले रक्षा मंत्रालय और सेना के बीच उनकी जन्मतिथि को लेकर विवाद रहा जो आखिरकार सुप्रीम कोर्ट में जाकर सुलझा.

अगर इस मामले में जनरल वीके सिंह का दावा मान लिया जाता तो वे एक साल बाद सेवानिवृत होते.

तैयारी पर सवाल

जन्मतिथि का विवाद खत्म होते होते उनका प्रधानमंत्री को लिखा गया पत्र लीक हो गया जिसमें उन्होंने सेना की तैयारियों पर सवाल उठाए थे.

लेकिन बुधवार को उन्होंने कहा कि सेना सहित तीनों दल किसी भी चुनौती से निपटने को तैयार हैं.

एक अन्य मामले में जनरल सिंह ने आरोप लगाया था कि उन्हें एक सैन्य सौदे के सिलसिले में रिश्वत की पेशकश हुई थी.

जनरल वीके सिंह के कार्यकाल पर सेना के पूर्व शीर्ष अधिकारियों की राय अलग अलग रही है, जिनमें से कुछ उनकी प्रशंसा करते हैं जबकि कुछ उनकी आलोचना करते हैं.