भारत बंद: बसों में तोड़-फोड़, ट्रेनें रोकी गईं

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पेट्रोल की कीमतें बढ़ाए जाने के विरोध में कई प्रदर्शन हो चुके हैं.

पेट्रोल की क़ीमतों में बढ़ोतरी को लेकर आयोजित भारत बंद के दौरान देश भर से चक्का जाम, बसों में तोड़-फोड़ और आगजनी की खबरें आईं. कुछ जगहों से ट्रेनों को रोके जाने की भी खबरें मिलीं.

बंद का आह्वान भरतीय जनता पार्टी समेत कई विपक्षी दलों ने किया जिसमें सरकार को समर्थन दे रहे कुछ दलों के अलावा वामपंथी पार्टियां भी शामिल हैं.

बिहार

बिहार से बीबीसी संवाददाता मणिकांत ठाकुर ने खबर दी है कि राज्य में कई जगहों पर रेलगाड़ियां रोकीं गईं हालांकि बंद के दौरान ट्रेनों को बाधित न करने की बात की गई थी.

झारखंड के कोडरमा में हावड़ा में राजधानी एक्सप्रेस को रोका गया और दरभंगा में संपर्क क्रांति रोकी गई. बिहार में वामपंथी दल भाकपा माले के लोग भी बंद के आयोजन में शामिल रहे.

सड़कों पर बसें भी कम चलीं जिससे जनजीवन अस्त व्यस्त रहा. पूरे राज्य में बंद के दौरान करीब 10,000 लोगों को गिरफ्तार किया गया. इनमें खुद गिरफ्तारी देनेवाले नेताओं में सहरसा में जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष शरद यादव और शहनवाज हुसैन भी शामिल थे.

कर्नाटक

बंद के दौरान कई शहरों से हिंसा की भी खबरें आईं. कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में कई बसों को आग लगा दी गई और उनमें तोड़-फोड़ की गई.

बेंगलुरु में स्थानीय पत्रकार खालिद कर्नाटकी ने बताया कि सुबह आठ बजे से भी पहले डिपो में खड़ी राज्य परिवहन की दो बसों में आग लगा दी गई.

इसके अलावा बेंगलुरु शहर में ही दोपहर तक एक दर्जन से ज्यादा जगहों पर तोड़-फोड़ हुई और कई बसों में आगजनी की गई.

खालिद कर्नाटकी के मुताबिक बेंगलुरु के अलावा हुगली में भी बसों को आग लगाई. ये सभी बसें कर्नाटक रोड ट्रांसपोर्ट की थीं.

दिल्ली

इमेज कॉपीरइट AP

वहीं राजधानी दिल्ली के कई इलाकों से चक्का जाम की खबरें मिल रही हैं.

जबरन बंद कराते हुए दिल्ली में बीजेपी के कई नेता हिरासत में लिए गए हैं.

बीबीसी संवाददाता दिव्या आर्य के मुताबिक रोहिणी पूर्व मेट्रो स्टेशन पर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जाम किया. लोगों को मेट्रो स्टेशन के अंदर जाने से रोका गया हालांकि मेट्रो के परिचालन पर कोई असर नहीं हुआ और मेट्रो रेल सभी रूटों पर चलती रहीं.

दिल्ली में ऑटो-टैक्सी वालों के भी बंद में शामिल होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा.

उधर मुंबई में भी कुछ बसों पर पथराव की भी खबरें मिलीं. खबर है कि मुंबई में डब्बा वालों ने भी बंद का समर्थन किया.

उत्तर प्रदेश में भी सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी बंद में शामिल रही. इलाहाबाद में बंद के दौरान ट्रेनों को रोके जाने की खबरें आईं.

महंगाई के खिलाफ बंद

केंद्र सरकार ने पिछले हफ्ते पेट्रोल की क़ीमतों में साढ़े सात रुपए की बढ़ोतरी की थी जिसकी कड़ी आलोचना हो रही है.

सरकार ने रुपए की क़ीमत गिरने का तर्क दिया है जिसे विपक्षी दल मानने को तैयार नहीं हैं.

बताया जा रहा है कि बंद के दौरान राजनीतिक दल धरना और प्रदर्शन भी करेंगे और जूलूस भी निकाले जाएंगे.

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों का विरोध न केवल विपक्षी दल कर रहे हैं बल्कि सरकार की सहयोगी पार्टियों ने भी क़ीमतें बढ़ाने की आलोचना की है.

सहयोगी दल तृणमूल ने हालांकि समर्थन लेने की बात से इंकार किया लेकिन पार्टी नेता और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने पेट्रोल कीमतें बढ़ाए जाने के विरोध में कोलकाता में एक जूलुस भी निकाला था.

द्रमुक के प्रमुख करुणानिधि भी कीमतें बढ़ाए जाने का विरोध कर चुके हैं. उन्होंने यहां तक कहा था कि वो सरकार से समर्थन वापस ले लेंगे लेकिन बाद में उन्होंने इंकार किया कि उन्होंने समर्थन लेने की बात कही थी.

संबंधित समाचार