कैदियों पर हमले के लिए माओवादियों ने माफी मांगी

  • 5 जून 2012
माओवादियों की माफी
Image caption छत्तीसगढ़ के बस्तर इलाके में माओवादियों का बेहद प्रभाव माना जाता है.

माओवादियों ने शनिवार को छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र में कैदियों को ले जा रही पुलिस की एक गाड़ी पर हमले के लिए माफी मांगी है.

इस हमले में छह पुलिसकर्मी और 19 कैदी घायल हो गए थे. एक घायल पुलिसकर्मी की बाद में मौत हो गई.

बीबीसी को भेजे संदेश में सीपीआई (माओवादी) की पूर्वी बस्तर डिविजनल कमेटी की प्रवक्ता नीति ने कहा, “खुफिया नाकामी और गलती से एनएच-30 पर कैदियों को ले जा रही पुलिस की गाड़ी को बारूदी सुंरग के जरिए निशाना बनाया गया. हम घायलों और उनके परिवारों के प्रति संवेदना जताते हैं और हम चाहते हैं कि वे हमें माफ कर दें.”

ये हमला छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 210 किलोमीटर दूर नवसृजित जिले कोंडागांव में हुआ. हमले के वक्त कैदियों को स्थानीय अदालत में पेशी के बाद कोंडागांव से वापस बस्तर जिला मुख्यालय जगदलपुर ले जाया जा रहा था.

हमले के बाद पुलिस ने कहा था कि संभवतः गलती से ये हमला हुआ है क्योंकि जेल की गाड़ी भी पुलिस और अर्धसैनिक बलों की गाड़ियों जैसी ही दिखती है.

माओवादी प्रवक्ता ने अपने बयान में अपनी गलती मानते हुए हमले पर अफसोस जताया है. उन्होंने घटना की जांच और उसके बाद जरूरी कार्रवाई करने की बात भी कही है.

संबंधित समाचार