आरूषि-हेमराज हत्याकांड में सुनवाई शुरू

आरूषि हत्याकांड इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption आरूषि के माता-पिता पर अपनी बेटी की हत्या के आरोप हैं.

चर्चित आरूषि-हेमराज हत्याकांड में शुक्रवार को सुनवाई शुरू हुई. इस मामले में आरूषि के पिता राजेश तलवार और मां नूपुर तलवार अभियुक्त बनाए गए हैं.

पेशे से डेंटिस्ट तलवार दंपत्ति पर हत्या और सबूतों को नष्ट करने के आरोप लगे हैं. राजेश तलवार पर जांच को गुमराह करने के आरोप भी हैं.

राजेश और नूपुर तलवार अपने ऊपर लगाए गए आरोपों से इनकार करते हैं.

चौदह वर्षीय आरूषि का शव मई 2008 में नोएडा में उनके बेडरूम में मिला था. इसके अगले दिन उनके नौकर हेमराज की लाश उनके घर की छत पर बरामद की गई थी.

तलवार दंपत्ति का आरोप

केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई का कहना है कि परिस्थितिजन्य प्रमाण संकेत करते हैं कि आरूषि की मौत के पीछे उनके माता पिता का हाथ है लेकिन इस बारे में ठोस सबूत नहीं हैं.

तलवार दंपत्ति इस मामले की दोबारा छानबीन चाहते हैं. उनका कहना है कि सीबीआई ने उन्हें इसलिए अभियुक्त बनाया है कि क्योंकि वो असल दोषियों को ढूढने में नाकाम रही.

लेकिन गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने अपने खिलाफ मुकदमा चलाए जाने को चुनौती देने वाली नुपूर तलवार की याचिका को खारिज कर दिया.

जज ने उनकी जमानत याचिका को भी ये कहते हुए खारिज कर दी कि वे 'ट्रायल कोर्ट की प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं करना चाहते'. नूपुर तलवार 30 अप्रैल से जेल में हैं.

राजेश तलवार को इस मामले में गिरफ्तार किया गया था लेकिन बाद में रिहा कर दिया गया. इस मामले में तीन अन्य लोगों से भी पूछताछ हुई है जिनमें डॉ. तलवार के सहायक और दो घरेलू नौकर शामिल हैं.

संबंधित समाचार