राष्ट्रपति चुनाव: ममता-मुलायम ने उछाला मनमोहन का नाम

मनमोहन सिंह, सोमनाथ चटर्जी और अब्दुल कलाम इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption इन तीनों नामों के सामने आने के बाद चर्चाओं और अटकलों का नया दौर शुरु होगा

ममता बनर्जी और मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को भावी राष्ट्रपति के नामों को लेकर चल रही अटकलों को एक नया मोड़ दे दिया.

दोनों नेताओं ने दिल्ली में एक बैठक के बाद कांग्रेस की ओर से प्रस्तावित प्रणब मुखर्जी और हामिद अंसारी के नामों को खारिज करते हुए अपनी ओर से तीन नाम सुझाए.

इन तीन नाम में से कम से कम दो नाम पहली बार भावी राष्ट्रपति के रुप में सामने आए, एक प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का और दूसरा पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी का.

तीसरा नाम पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का था लेकिन ममता बनर्जी पहले ही ये नाम ले चुकीं थीं.

पिछले कुछ दिनों से सबकी नज़र ममता बनर्जी और मुलायम सिंह यादव पर लगीं हुई थीं कि वे अपना रुख़ कब स्पष्ट करते हैं.

केंद्र में सत्तारूढ़ यूपीए गठबंधन को राष्ट्रपति के पद पर अपना उम्मीदवार बिठाने के लिए दोनों के समर्थन की ज़रुरत है.

कांग्रेस की ओर से प्रणब-हामिद का नाम

वैसे तो ममता बनर्जी मंगलवार को दिल्ली आ गईं थीं और आते ही उन्होंने मुलायम सिंह यादव से मंत्रणा कर ली थी.

लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से उनकी मुलाक़ात बुधवार को हुई.

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption प्रणब मुखर्जी और हामिद अंसारी का नाम पहले से ही चर्चा में था

सोनिया गांधी से मिलने के बाद ममता बनर्जी ने पत्रकारों से कहा, "सोनिया गांधी जी ने मुझे दो नाम बताए हैं एक प्रणब मुखर्जी का और दूसरा हामिद अंसारी का. अब मैं अपनी पार्टी में बात करुँगी और मुलायम सिंह जी से चर्चा करुँगी तब कुछ तय होगा."

ममता बनर्जी के इस बयान से एक तो यह हुआ कि प्रणब मुखर्जी का नाम कांग्रेस की अधिकृत और पहली पसंद के रूप में ज़ाहिर हो गया. अब तक उनका नाम सिर्फ़ अटकलों के रूप में था और कांग्रेस ने कभी ये नहीं कहा था कि प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति पद के लिए उनके उम्मीदवार हैं.

कांग्रेस ने ये भी कभी नहीं कहा था कि प्रणब मुखर्जी के बाद हामिद अंसारी उसकी पसंद हैं.

लेकिन इन नामों के ज़ाहिर होने के कुछ ही देर बाद ही ममता और मुलायम ने मिलकर इन चर्चाओं को नया मोड़ दे दिया है.

अब गेंद एक बार फिर कांग्रेस के पाले में है कि वह ममता-मुलायम के सुझाव पर विचार कर प्रतिक्रिया दे और फिर बाक़ी गठबंधन सहयोगियों से चर्चा करे.

कहा जा रहा है कि राष्ट्रपति पद के लिए यूपीए के उम्मीदवार की घोषणा प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के 23 जून से शुरू हो रहे मैक्सिको और ब्राजील के दौरे के बाद ही होने की संभावना है.

चुनाव कार्यक्रम घोषित

इससे पहले मंगलवार को चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव का कार्यक्रम घोषित कर दिया है.

इसके अनुसार 16 जून को राष्ट्रपति चुनाव की अधिसूचना जारी होगी और 30 जून तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे.

नवनियुक्त मुख्य चुनाव आयुक्त ने पहली प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा कि अगर आवश्यकता हुई तो 19 जुलाई को मतदान होगा और 22 जुलाई को मतगणना होगी.

राष्ट्रपति चुनाव का ये कार्यक्रम उपराष्ट्रपति चुनाव पर भी लागू होगा.

संबंधित समाचार