दिग्विजय पार्टी के प्रवक्ता नहीं: कांग्रेस

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption दिग्विजय सिंह के बारे में पार्टी के मीडिया सेल ने कहा है कि वे पार्टी प्रवक्ता नहीं है

कांग्रेस की मीडिया सेल की तरफ से जारी किए गए एक बयान में कहा गया है कि पार्टी के महासचिव दिग्विजय सिंह पार्टी के आधिकारिक प्रवक्ता नहीं हैं.

कांग्रेस की मीडिया सेल ने कहा कि अगर दिग्विजय सिंह कोई बयान देते हैं तो उसे उनका निजी बयान माना जाए न कि पार्टी का अधिकारिक बयान.

बयान में कहा गया है कि ‘दिग्विजय सिंह पार्टी की तरफ से बोलने के लिए अधिकृत नहीं हैं.’

जब इस बारे में पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी से पूछा गया तो उन्होंने कहा, "पार्टी की मीडिया सेल की तरफ से जो बयान जारी किया जाता है वह पार्टी का अधिकारिक बयान होता है, इस बारे में इससे ज्यादा कुछ भी नहीं कह सकता हूं."

'दूरी' न बढ़े

माना जा रहा है कि दिग्विजय सिंह के खिलाफ कांग्रेस पार्टी का यह कदम ममता बनर्जी को खुश करने के लिए उठाया है.

तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पिछले दिनों जब प्रणब मुखर्जी के राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी को लेकर समर्थन देने से मना कर दिया था तो दिग्विजय सिंह ने उनके खिलाफ कुछ टिप्पणी की थी.

पार्टी के सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस ममता बनर्जी को यह बताना चाहती है कि भले ही उन्होंने प्रणब मुखर्जी का समर्थन न किया हो, लेकिन पार्टी नहीं चाहती कि राष्ट्रपति चुनाव के बाद ममता बनर्जी से संबंध और खराब हो.

यूपी के प्रभारी

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह कांग्रेस के महासचिव होने के साथ-साथ पार्टी के उत्तर प्रदेश प्रभारी भी हैं.

जानकारों का कहना है कि अगर अब वो उत्तर प्रदेश के बारे में कुछ बयान देते हैं तो यह पार्टी का अधिकारिक बयान होगा या नहीं, इसे देखना काफी महत्वपूर्ण होगा.

कुछ महीनों पहले संपन्न हुए उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनाव में पार्टी ने दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में रणनीति बनाई थी लेकिन चुनाव में कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा था.

संबंधित समाचार