मौसम विभाग ने अब कहा, बारिश कम होगी

  • 22 जून 2012
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption भारत में इस वर्ष मानसून चार दिन देर से पहुँचा

भारत में मौसम विभाग ने इस वर्ष मानसून की बारिश के स्तर के अपने पहले के अनुमान को कम करते हुए कहा है कि इस साल मानसून सामान्य रहेगा मगर पहले बताए गए अनुमान से कम बारिश होगी.

मौसम विभाग के महानिदेशक लक्ष्मण सिंह राठौड़ ने कहा,"देश में इस वर्ष मानसून से 96 प्रतिशत बारिश होने की संभावना है".

मौसम विभाग ने अप्रैल में देश में 99 प्रतिशत बारिश की संभावना जताई थी.

वैज्ञानिक गणना में 96-104 प्रतिशत के बीच की बारिश को सामान्य मानसून कहा जाता है.

मौसम विभाग के ताज़ा अनुमान के अनुसार पश्चिमोत्तर इलाके में इस वर्ष 93 प्रतिशत वर्षा होगी. पंजाब और हरियाणा जैसे अन्न उपजानेवाले राज्य इसी क्षेत्र में आते हैं.

भारत में चार महीनों तक रहनेवाला मानसून सामान्यतः हर साल एक जून तक दक्षिण पश्चिमी हिस्सों में पहुँच जाता है जिससे सितंबर तक बारिश होती है.

इस वर्ष मानसून चार दिन की देरी से केरल के तट पर पहुँचा.

पिछले साल मानसून के 31 मई तक पहुँचने की भविष्यवाणी की गई थी मगर वर्षा दो दिन पहले ही शुरू हो गई.

जुलाई के मध्य तक मानसून देश के शेष इलाकों और भारत के पड़ोसी देशों बांग्लादेश, भूटान और नेपाल तक पहुँच जाता है.

मौसम विभाग ने इस वर्ष लगातार तीसरे साल औसत मानसून की भविष्यवाणी की है.

संबंधित समाचार