रेलवे के तत्काल टिकट बुकिंग का समय बदलेगा

भारतीय रेल इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अधिकारियों को भरोसा है कि बुकिंग का समय बदलने से फर्क पड़ेगा

तत्काल टिकट में दलालों की भूमिका को लेकर लगातार उठ रहे सवालों के बीच भारतीय रेलवे ने 10 जुलाई से इन टिकटों का आरक्षण सुबह आठ बजे की जगह 10 बजे से शुरू करने की घोषणा की है. इसके तहत किसी अधिकृत एजेंट को पहले दो घंटे में टिकट बुक कराने की अनुमति नहीं होगी.

रेलवे की ओर से जारी बयान में कहा गया है, "रेलवे ने फैसला किया है कि 10 जुलाई से सुबह 10 बजे तत्काल टिकट की बुकिंग शुरू होगी."

तत्काल टिकट को लेकर रेलवे के पास काफी शिकायत आ रही थी और दलालों की भूमिका के बारे में भी मीडिया में रिपोर्टें लगातार छप रही थी.

फिलहाल तत्काल टिकट 24 घंटे पहले बुक कराया जाता है. लेकिन काउंटर खुलते ही मिनटों में टिकट बिक जाते हैं. लोगों का आरोप है कि इसमें रेलवे के कर्मचारियों और दलालों की मिलीभगत है.

रेलवे के अधिकारियों ने कई बार व्यस्त रेलवे काउंटरों पर जाकर छापेमारी की है और कई लोग पकड़े भी गए हैं, लेकिन लोगों की मुश्किलों का समाधान नहीं हो पा रहा है.

अब रेलवे का दावा है कि नए कदमों की घोषणा के बाद मुश्किलें कम होंगी. रेलवे की घोषणा के मुताबिक अब बिना पहचान पत्र के कोई तत्काल टिकट बुक नहीं करा पाएगा.

रेलवे का ये भी कहना है कि काम के घंटों के दौरान बुकिंग कर्मचारी मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं कर पाएँगे.

अभी ई-टिकट के जरिए आम टिकट और तत्काल टिकट दोनों की बुकिंग सुबह आठ बजे शुरू होती है जिससे ई-टिकट की वेबसाइट ठप हो जाती है और रिजर्वेशन के काउंटरों पर भारी भीड़ हो जाती है.

अधिकारियों के अनुसार अलग तत्काल काउंटर खोले जाएँगे और सीसीटीवी कैमरों के जरिए अनियमितताओं पर नजर रखने की कोशिश की जाएगी.

संबंधित समाचार