बिस्तर गीला करने पर बच्ची को मूत्र पीने की सज़ा

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption एक बच्ची को जबरन उसी का मूत्र पिलाने की घटना सामने आई है.(फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल के विश्व भारती विश्वविद्यालय में पांचवीं कक्षा में पढ़ने वाली एक बच्ची को जबरन उसी का मूत्र पिलाने की चौकाने वाली एक घटना सामने आई है.

इस लड़की के माता-पिता ने शनिवार रात बोलपुर पुलिस स्टेशन में इस बारे में शिकायत दर्ज कराई है.

समाचार ऐजेंसी पीटीआई का कहना है कि इस बच्ची ने नींद में अपना बिस्तर गीला कर दिया था और हॉस्टल वार्डेन ने उसकी इस गंदी आदत को छुड़ाने के लिए सजा के तौर पर ऐसा किया.

ये बच्ची विश्व भारती विश्वविद्यालय के तहत आने वाले पथ भवन स्कूल के काराबी हॉस्टल में रह रही थी.

मामले पर गंभीर रुख अपनाते हुए बाल अधिकारों की रक्षा के लिए राष्ट्रीय आयोग ने स्पष्टीकरण के लिए नोटिस भेजने का फैसला किया है.

घटना चक्र

दरअसल, बच्ची की माँ ने जब अपनी बेटी का हाल-चाल पूछने के लिए वॉर्डन को फोन किया तो वॉर्डन ने बताया कि उनकी बेटी ने एक रात पहले बिस्तर गीला कर दिया था और तब उन्होंने इस बुरी आदत को खत्म करने के लिए इलाज के रुप में बच्ची को उसी का मूत्र पिला दिया .

इसके बाद हॉस्टल से पाँच किलोमीटर दूर रहने वाले इस बच्ची के माता पिता कई अन्य लोगों के साथ तुरंत हॉस्टल पहुंच गए और बच्ची को वापस घर ले आए.

जाँच समिति

विश्व भारती विश्वविद्यालय ने अधिकारियों ने मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय समिति का गठन किया गया है.समिति अपनी जांच रिपोर्ट विश्वविद्यालय के कुलपति को देगी.

इस बीच, विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने भी कुछ लोगों के हॉस्टल में अनाधिकृत प्रवेश को लेकर पुलिस में एक शिकायत दर्ज कराई है

द नेशनल कमीशन फॉर प्रॉटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स के प्रवक्ता ने पीटीआई से कहा कि ये बेहद दुख की बात है कि घटना उस जगह हुई है जहाँ रवींद्र नाथ टैगोर रहा करते थे.

संबंधित समाचार