गुवाहाटी मामले की चौतरफा निंदा, गिरफ्तारियां

लड़की के छेड़छाड़ इमेज कॉपीरइट YouTube
Image caption राष्ट्रीय महिला आयोग ने इस घटना की जांच के लिए अपनी एक टीम भेजने का फैसला किया है.

गुवाहाटी के एक व्यस्त इलाके में एक लड़की के साथ बदसलूकी करने और उसके कपड़े फाड़ने के मामले में एक और युवक को गिरफ्तार किया गया है जबकि इस घटना में शामिल 12 अन्य लोगों की पहचान कर ली गई है.

सोमवार की रात गुवाहाटी-शिलोंग रोड़ पर एक बार के सामने हुई इस घटना के सिलसिले में अब तक कुल चार लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

वीडियो शेयरिंग वेबसाइट 'यूट्यूब' पर इस घटना का वीडियो जारी होने के बाद इसकी चौतरफा आलोचना हुई है.

असम के पुलिस महानिदेशक जयंता नारायण चौधुरी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, “एक और व्यक्ति की गिरफ्तारी हुई है जबकि 12 अन्य लोगों की पहचान की गई है. शुक्र है कि मीडिया में इस मुद्दे को व्यापक कवरेज मिली और हमें इस घटना का वीडियो मिल पाया और हमने 12 लोगों की पहचान की है.”

इस घटना के बारे में चौधुरी ने बताया कि चार लड़कियां और दो लड़के जो संभवतः एक दूसरे को जानते थे, सोमवार को एक बार में घुसे जहां उनका झगड़ा हो गया. इसके बाद बार वालों ने उन्हें बाहर निकाल दिया.

डीजीपी के अनुसार, “जब ये छह लोग बाहर आ गए तो स्थानीय लोगों ने मौका का फायदा उठाते हुए धक्का मुक्की की और एक लड़की को खींच लिया और उसके कपड़े उतारने लगे और उससे छेड़छाड़ करने लगे.”

उन्होंने कहा कि पुलिस ने तुरंत घटनास्थल पर पहुंच कर लड़की को बचाया.

महिला आयोग जांच करेगा

इस बीच राष्ट्रीय महिला आयोग ने घटना के जांच के लिए अपनी टीम गुवाहाटी भेजने का फैसला किया है.

आयोग की अध्यक्ष ममता शर्मा ने निजी टीवी चैनल एनडीटीवी से बातचीत में कहा, “हम कार्रवाई करेंगे. हमने मामले का संज्ञान लिया है. मेरा सरकार से आग्रह है कि वो इस तरह मामलों पर ध्यान दे. मामले की जांच के लिए कमेटी गुवाहाटी भेजी जाएगी”

असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है और कहा है कि ऐसा दोबारा नहीं होना चाहिए.

उन्होंने जिला प्रशासन और पुलिस को सभी बारों, क्लबों, डिस्को और होटलों की निगरानी करने का निर्देश दिया है.

संबंधित समाचार