कलमाडी का माकन पर हमला, इस्तीफा माँगा

  • 14 जुलाई 2012
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption कलमाडी ने अदालत से उन्हें लंदन जाने की अनुमति माँगी थी जो स्वीकार कर ली गई

राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति के बर्खास्त अध्यक्ष सुरेश कलमाडी ने अपने लंदन ओलंपिक दौरे पर आपत्ति करने के लिए खेल मंत्री अजय माकन की कड़ी आलोचना की है और उनके इस्तीफ़े की माँग कर दी है.

सुरेश कलमाडी ने दिल्ली स्थित सीबीआर्ई की विशेष अदालत से लंदन ओलंपिक में जाने के लिए अनुमति माँगी थी जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया. मगर भारत के खेल मंत्री अजय माकन ने कहा था कि कलमाडी को स्वयं लंदन जाने से बचना चाहिए.

खेल मंत्री के इस बयान पर सख्त आपत्ति प्रकट करते हुए कहा है कि माकन को इस तरह से अदालत के आदेश के विरूद्ध नहीं बोलना चाहिए था. उन्होंने प्रधानमंत्री से माकन से इस्तीफ़ा लेने का आग्रह किया है.

कलमाडी ने दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "मैं माननीय न्यायालय के मुझे लंदन ओलंपिक जाने की अनुमति दिए जाने पर अजय माकन की प्रतिक्रिया देखकर हैरान और परेशान हूँ.

"एक खेलमंत्री को इस तरह अदालत के फैसले के खिलाफ नहीं बोलना चाहिए और इसलिए मैं प्रधानमंत्री से आग्रह करता हूँ कि वो उनसे ऐसे बयानों देने के लिए इस्तीफ़ा माँगें."

कलमाडी ने माकन पर खेल संघों के काम में दखल देने और वहाँ गुटबाज़ी का आरोप लगाते हुए कहा कि इससे अंततः ओलंपिक में खिलाड़ियों का प्रदर्शन प्रभावित होगा.

उन्होंने कहा कि वे दोषी नहीं पाए जाने तक निर्दोष हैं और अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स संघ संगठन के निमंत्रण पर उनके लंदन जाने पर आपत्ति करना सही नहीं है.

'निर्दोष'

कलमाडी ने कहा, "क़ानून के अनुसार मैं दोषी नहीं पाए जाने तक निर्दोष हूँ. मेरी ज़मानत अर्ज़ी में लिखा है कि मेरे खिलाफ़ एक भी वित्तीय आरोप सिद्ध नहीं हुआ. कोई भी भ्रष्टाचार का आरोप साबित नहीं हुआ."

उन्होंने साथ ही दावा किया कि उनके अच्छे काम के कारण ही उन्हें तीन-तीन बार एकमत से भारतीय ओलंपिक संघ का प्रमुख चुना गया.

उन्होंने कहा, "माकन ये भूल गए हैं कि भारतीय ओलंपिक संगठन के प्रमुख के मेरे कार्यकाल के दौरान ही भारत ने कॉमनवेल्थ और एशियाई खेलों में सबसे अधिक पदक पाए थे."

कलमाडी ने माकन पर राष्ट्रीय खेल संघ के काम में दखलंदाज़ी का आरोप लगाते हुए कहा कि इससे ओलंपिक में खिलाड़ियों का खेल प्रभावित होगा.

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि माकन का छवि ख़राब करने का ये अभियान ओलंपिक में खिलाड़ियों और अधिकारियों के बीच मतभेद पैदा करने के लिए शुरू किया गया है."

ग़ौरतलब है कि सीबीआई ने लोकसभा सांसद कलमाडी और 10 अन्य व्यक्तियों के खिलाफ़ 2010 में हुए दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन में भ्रष्टाचार करने और सरकारी ख़ज़ाने को 90 करोड़ रूपए का नुक़सान पहुँचाने के मामले में आरोप दायर किया हुआ है.

इस मामले में कलमाड़ी को जेल भी जाना पड़ा था और उन्हें नौ महीने जेल में बिताने के बाद इस साल जनवरी में ज़मानत पर रिहा किया गया.

संबंधित समाचार