प्रणब की 'ससुराल' बांग्लादेश में भी जश्न

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption प्रणब मुखर्जी की पत्नी का जन्म बांग्लादेश के नड़ाईल ज़िले के भद्रबिला गाँव में हुआ था

प्रणब मुखर्जी के भारत का राष्ट्रपति निर्वाचित होने की ख़बर सुनकर पड़ोसी देश बांग्लादेश के एक गाँव में भी उत्सव मनाया जाने लगा.

दक्षिण पश्चिम बांग्लादेश के नड़ाईल ज़िले के भद्रबिला नामक गाँव में गाँववालों ने एक-दूसरे को मिठाईयाँ खिलाईं.

दरअसल प्रणब मुखर्जी की पत्नी शुभ्रा मुखर्जी का जन्म इसी गाँव में हुआ था और उनके बचपन का कुछ हिस्सा इसी गाँव में बीता.

नड़ाईल से स्थानीय संवाददाता तारिक आलम ने बीबीसी की बांग्ला सेवा को बताया कि ख़बर की पुष्टि होते ही गाँव के कुछ लोगों ने जुलूस निकाला और अबीर उड़ाए.

प्रणब मुखर्जी के स्वस्थ रहने की कामना के साथ मंदिर में पूजा-अर्चना भी की गई.

प्रणब मुखर्जी के एक साले कन्हाई लाल घोष इसी गाँव में रहते हैं. उन्होंने बताया कि शुभ्रा मुखर्जी का अभी भी गाँव के साथ संपर्क बना हुआ है.

1998 में वे अपनी बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी को लेकर अंतिम बार इस गाँव में आई थीं.

बधाई

प्रणब मुखर्जी के राष्ट्रपति चुने जाने पर बांग्लादेश सरकार ने भी उन्हें बधाई दी है.

बांग्लादेश के राष्ट्रपति एम ज़िल्लुर रहमान, प्रधानमंत्री शेख हसीना और विदेश मंत्री दीपू मोनी ने पत्र भेजकर प्रणब मुखर्जी को हार्दिक बधाई दी है और उनकी सफलता की कामना की है.

बांग्लादेशी नेताओं ने अपने पत्र में कहा है कि साझा इतिहास, भूगोल और संस्कृति के कारण दोनों देशों के मन और हृदय में एक विशेष सामीप्य है.

उन्होंने आशा जताई कि प्रणब मुखर्जी के दिशानिर्देशों से बांग्लादेश-भारत संबंध और विकसित होंगे.