शाहरुख़ मामले पर बाल अधिकार आयोग ने रिपोर्ट मांगी

 शुक्रवार, 17 अगस्त, 2012 को 13:12 IST तक के समाचार
शाहरुख़ खान

मुंबई क्रिकेट बोर्ड ने शाहरुख़ पर वानखेड़े स्टेडियम में दाखिल होने पर पाबंदी लगा दी थी

महाराष्ट्र के बाल अधिकार आयोग ने मुंबई पुलिस से 23 अगस्त तक उस घटना की रिपोर्ट मांगी है जिसमें मई महीने में एक क्रिकेट मैच के बाद शाहरुख़ ख़ान पर वानखेड़े स्टेडियम में बच्चों के सामने बुरे शब्दों के इस्तेमाल करने का इलज़ाम लगाया गया था.

क्लिक करें साल में बस एक झगड़ा और दो फिल्में

मुंबई पुलिस ने इस घटना पर एक केस भी दर्ज किया था. बाल अधिकार आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी एएन त्रिपाठी ने बीबीसी को बताया, "हमने पुलिस से ये पूछा है कि आपने जो केस दर्ज किया था, उसकी छानबीन पूरी हुई या नहीं. इस पर पुलिस विभाग ने पूरा सहयोग देने का वादा किया है."

अमित मारु नामक एक व्यक्ति ने आयोग से आठ अगस्त को शाहरुख़ ख़ान के खिलाफ बच्चों के सामने गंदे शब्दों के इस्तेमाल करने का इलज़ाम लगाया था.

क्लिक करें शाहरुख़ का रवैया गैर-ज़िम्मेदाराना

"हमने पुलिस से ये पूछा है कि आपने जो केस दर्ज किया था, उसकी छानबीन पूरी हुई या नहीं. इस पर पुलिस विभाग ने पूरा सहयोग देने का वादा किया है"

अमित मारु, महाराष्ट्र बाल आयोग के अधिकारी

अमित मारु ने आयोग से आग्रह किया था कि वो पुलिस को शाहरुख़ ख़ान के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दे.

आयोग के सदस्य त्रिपाठी के मुताबिक, आयोग ने अमित मारु से यह पूछा है कि उन्होंने जो इलज़ाम लगाए हैं, उससे बाल अधिकारों का हनन कैसे होता है. अगर पुलिस ने मामला दर्ज किया तो शाहरुख़ खान की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

इस साल मई महीने में एक आईपीएल मैच के बाद शाहरुख़ खान अपने बच्चों के अलावा कुछ और बच्चों की मौजूदगी में वानखेड़े स्टेडियम के सुरक्षाकर्मियों से उलझ गए थे.

कहा जाता है कि गुस्से में उन्होंने अंग्रेजी में गालियाँ भी दी थीं. पहले तो उन्होंने माफ़ी मांगने से इनकार कर दिया था, लेकिन बाद में उन्होंने एक बयान में कहा कि उन्हें अपने किए पर पछतावा है.

इस पूरे मामले की वजह से मुंबई क्रिकेट बोर्ड ने शाहरुख़ पर वानखेड़े स्टेडियम में दाखिल होने पर पाबंदी लगा दी थी.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.