होगा मनमोहन और गडकरी के घर का घेराव

 गुरुवार, 23 अगस्त, 2012 को 13:06 IST तक के समाचार
अरविंद केजरीवाल

टीम अन्ना ने अपनी राजनीतिक लड़ाई को आगे ले जाने के लिए तैयारी शुरु कर दी है.

लोकपाल कानून की मांग को लेकर सरकार और विपक्ष दोनों के खिलाफ हमला बोलते हुए टीम अन्ना ने रविवार को प्रधानमंत्री और भाजपा प्रमुख नितिन गडकरी के आवास के घेराव की घोषणा की है.

लोकपाल की मांग को देशभर में आंदोलन करने वाली क्लिक करें टीम अन्ना का आरोप है कि कोयला आवंटन मामले में हुए भ्रष्टाचार के लिए कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी दोनों समान रुप से ज़िम्मेदार हैं.

इस मामले में उन भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों की भी पूरी ज़िम्मेदारी है जिनके राज्यों में क्लिक करें घोटाले सामने आए हैं.

मानसून सत्र में कई महत्वपूर्ण विधेयक लाए जाने वाले हैं लेकिन अब कोयले पर आई नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट के कारण संसद के इस सत्र में कोई भी बैठक पूरी तरह नहीं चल पाई है.

26 अगस्त को करेंगे घेराव

मुद्दा इतना बढ़ चुका है कि भारतीय जनता पार्टी के कुछ पार्टी सदस्यों ने सभी संयुक्त संसदीय समितियों से इस्तीफा देने की रणनीति बनानी शुरु कर दी है.

"भारतीय जनता पार्टी ने अपने मुख्यमंत्रियों को बचाने के लिए संसद का सत्र नहीं चलने दिया. इस मुद्दे पर संसद में बहस के बजाय वो सीधे प्रधानमंत्री के इस्तीफे की मांग पर अड़ गई है."

अरविंद केजरीवाल

गुरुवार की सुबह टीम अन्ना के सदस्य और सामाजिक कार्यकर्ता क्लिक करें अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर के ज़रिए आरोप लगाया कि कोयला घोटाले में हुई एक लाख 86 हज़ार करोड़ की लूट में भाजपा और कांग्रेस दोनों मिल गए हैं. 26 अगस्त को इसके खिलाफ जंतर-मंतर पर इक्टठा हों.

इसके बाद संवाददाताओं से बात करते हुए केजरीवाल ने कहा, ''भारतीय जनता पार्टी ने अपने मुख्यमंत्रियों को बचाने के लिए संसद का सत्र नहीं चलने दिया. इस मुद्दे पर संसद में बहस के बजाय वो सीधे प्रधानमंत्री के इस्तीफे की मांग पर अड़ गई है.''

इस बीच टीम अन्ना ने अपनी राजनीतिक लड़ाई को आगे ले जाने के लिए तैयारी शुरु कर दी है. इस मामले पर फैसले के लिए सितंबर के पहले हफ्ते में बैठक की उम्मीद है.

पिछले हफ्ते टीम अन्ना सहित कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं ने सरकार को धमकी दी थी कि कोयला घोटाले की जांच के लिए अगर सरकार विशिष्ट टीम का गठन नहीं करती तो यूपीए की सच्चाई को सामने लाने के लिए वो जनमत संग्रह से जुड़ी जनहित याचिका दायर करेंगे.

लोकपाल के मुद्दे पर सरकार को घेरने के लिए टीम अन्ना ने पांच राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस के खिलाफ प्रचार करने की पहले ही घोषणा कर दी है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.