दुकान का नाम हिटलर रखने पर इसराइल खफ़ा

 शनिवार, 1 सितंबर, 2012 को 05:07 IST तक के समाचार
दुकान का नाम हिटलर

इस दुकान पर खास कर पुरूषों के कपड़े मिलते हैं.

कपड़ों की किसी दुकान का विदेश नीति से भला क्या नाता होगा. लेकिन गुजरात में हाल में खुली एक दुकान को लेकर इसराइल खासा नाराज है.

दरअसल इस दुकान का नाम हिटलर रखा गया है और यही इसराइल की नाराजगी का कारण है.

मुंबई में इसराइल की महावाणिज्य दूत ओरना सागीव ने कहा कि इस 'असंवदेनशील' नाम से उन्हें सचमुच 'धक्का लगा' है.

ये दुकान दस दिन पहले अहमदाबाद में खुली है. इसके मालिक राजेश शाह का कहना है कि उन्हें तो ये पता भी नहीं है कि हिटलर कौन था. उन्होंने तो सिर्फ अपने पार्टनर के दादा के नाम पर इस दुकान का नाम रखा है जिन्हें बेहद सख्त होने के कारण लोग हिटलर कहते थे.

हिटलर से बेखबर

इसलाइली महावाणिज्य दूत सागीव ने कहा कि वो अगले हफ्ते अपने प्रस्तावित गुजरात दौरे में राज्य सरकार के साथ इस मुद्दे को उठाएंगी.

"मुझे नहीं पता था कि ये नाम लोगों को इतना परेशान कर सकता है. जब मैंने ये स्टोर खोला तो मुझे पता चला कि हिटलर ने साठ लाख लोगों मरवाया था."

राजेश शाह, दुकान के मालिक

उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता कि उन्होंने ये नाम किसी दुर्भावना से रखा है. मुझे लगता है कि ऐसा सिर्फ जानकारी न होने और उनकी तरफ से असंवेदनशीलता के कारण हुआ है.”

राजेश शाह इस बात से हैरान हैं कि उनकी दुकान के नाम से किसी को इतनी नाराजगी हो सकती है.

उन्होंने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया, “मुझे नहीं पता था कि ये नाम लोगों को इतना परेशान कर सकता है. जब मैंने ये स्टोर खोला तो मुझे पता चला कि हिटलर ने साठ लाख लोगों मरवाया था.”

नाम बदलने को तैयार बशर्ते..

शाह का कहना है कि अगर उन्हें अपने ब्रांड को तैयार करने पर आए खर्चे का भुगतान कर दिया जाए तो वो दुकान का नाम को बदलने के लिए तैयार हैं.

उन्होंने बताया कि हिलटर ब्रांड के लोगो, होर्डिंग और बिजनेस कार्ड पर उन्होंने डेढ लाख रुपये खर्च किए हैं.

शाह की दुकान पर न सिर्फ बड़े बड़े अक्षरों में हिटलर लिखा हुआ होर्डिंग लगा है, बल्कि उस पर स्वास्तिक भी बना हुआ है.

संवाददाताओं का कहना है कि कुछ भारतीय पूर्व जर्मन तानाशाह हिटलर के प्रशंसक हैं. दुनिया में दूसरे विश्व युद्ध को भड़काने वाले हिटलर ने साठ लाख यहूदियों का नरसंहार कराया था.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.