महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार का इस्तीफा

 मंगलवार, 25 सितंबर, 2012 को 19:27 IST तक के समाचार

अजीत पवार पर आरोप है कि उन्होंने सिंचाई मंत्री के रुप में परियोजनाओं को मंजूरी देने में अनियमितताएं बरतीं.

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री और शरद पवार के भतीजे अजीत पवार ने पद से इस्‍तीफा दे दिया है. अजीत पवार पर आरोप है कि उन्होंने सिंचाई मंत्री के रूप में परियोजनाओं को मंजूरी देने में अनियमितताएं बरतीं.

महत्त्वपूर्ण है कि सिंचाई घोटाले में अजीत पवार का नाम सामने आने के बाद उनके इस्तीफे की मांग जोर पकड़ने लगी थी.

अजीत पवार ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण को इस्तीफा भेज दिया है लेकिन वो राज्य में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक दल के नेता बने रहेंगे.

संवाददाताओं से बातचीत में अजीत पवार ने कहा, “मैंने कोई गलत काम नहीं किया और मैंने निष्‍पक्ष जांच के लिए इस्‍तीफा दिया है. मेरे उपर इस्‍तीफे के लिए कोई दबाव नहीं था, मैंने खुद अपने विवेक से इस्‍तीफा दिया है.”

इस बीच सीएजी ने महाराष्‍ट्र में सिंचाई घोटाले की जांच शुरू कर दी है. सोमवार को मंत्रालय के अधिकारियों से इस घोटाले के सिलसिले में पूछताछ की गई थी.

मामला

अजीत पवार पर आरोप है कि पिछली सरकार में जल संसाधन मंत्री रहते हुए उन्होंने सिंचाई से जुड़ीं 38 परियजनाओं को अवैध तरीके से मंजूरी दी और इनके बजट मनमानी पूर्ण तरीके से बढ़ाया था.

पवार ने सन् 2009 में जनवरी से लेकर अगस्त के दौरान 20 हजार करोड़ की परियोजनाओं को हड़बड़ी में क्यों मंजूरी दी, इसे लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.