किंगफिशर की बदहाली से 'आत्महत्या' को मजबूर

 शुक्रवार, 5 अक्तूबर, 2012 को 16:06 IST तक के समाचार
किंगफिशर

किंगफिशर एयर लाइन बड़े लंबे समय से घाटे में चल रही है.

‘किंग ऑफ़ गुड टाइम्स’ विजय माल्या की एयर लाइन किंगफिशर के एक कर्मचारी की पत्नी ने पति को वेतन ना मिलने के कारण आत्महत्या कर ली.

दिल्ली निवासी सुष्मिता चक्रवर्ती ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि अपने पति को वेतन ना मिलने के कारण बेहद आर्थिक तंगी से परेशान होकर वो जान दे रही है.

पैंतालीस साल की सुष्मिता अपने पति के साथ दिल्ली के मंगलापुरी इलाके में रहती थीं. उनके पति मानस चक्रवर्ती किंगफिशर में टेक्नीशियन का काम करते हैं. उनका बेटा असम के सिलचर से बी-टेक कर रहा है.

बांग्ला में लिखे अपने सुसाइड नोट में सुष्मिता ने यह भी लिखा है कि उन्हें यह भी डर था कि उनके पति की नौकरी भी जा सकती है.

इस आत्महत्या ने किंगफिशर और उसके मालिक विजय माल्या के लिए मुश्किलें और बढ़ा दीं हैं. इस एयर लाइन के बहुत सारे कर्मचारी काम नहीं कर रहे हैं और दिल्ली और मुंबई के इसके दफ्तरों पर प्रदर्शन हो रहे हैं.

मुश्किल में माल्या

एयर लाइन की कर्मचारियों को समझाने की कोशिश सभी कोशिशे नाकाम साबित हो रही हैं.

गुरूवार सुबह मुंबई में किंगफिशर के कर्मचारियों ने मुंबई के हवाई अड्डे से किंगफिशर कार्यालय तक एक जुलूस निकाला.

किंगफिशर एयरलाइन लंबे समय से लगातार यह कोशिश कर रही है कि भारत में नागरिक उड्डयन के क्षेत्र में एफ़डीआई को अनुमति मिल जाए.

एयरलाइन के तकनीकी कर्मचारियों की हड़ताल के कारण कंपनी अपने जहाज़ों को उड़ा नहीं पा रही है और नागरिक उड्डयन की नियामक संस्थाएं भी किंगफिशर विमानों को उड़ान भरने की अनुमति प्रदान करने में आना-कानी कर रही हैं.

इस बीच केंद्रीय नागरिक विमानन मंत्री अजीत सिंह ने संदेह जताया है कि वर्तमान हालात में यह एयर लाइन जल्द ही सामय रूप से अपने काम काज को शुरू कर पाएगी.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.