केजरीवाल ने कहा सलमान ख़ुर्शीद का सबूत झूठा

  • 15 अक्तूबर 2012
Image caption अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सलमान सबूतों को तोड़-मरोड़ कर पेश कर रहे हैं.

सोमवार को केंद्रीय मंत्री सलमान ख़ुर्शीद की स्वंयसेवी संस्था में घोटाले पर नए सबूत देते हुए अरविंद केजरीवाल ने उसी सबूत - फ़ोटो, को सिरे से झूठा ठहराने की कोशिश की जिसे सलमान ख़ुर्शीद ने अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए पेश किया था.

रविवार को एक प्रेसवार्ता में सलमान ख़ुर्शीद ने एक तस्वीर पेश कर उस दावे को चुनौती दी थी कि विकलांगो के लिए शिविर सिरे से लगाए ही नहीं गए थे.

अरविंद केजरीवाल ने दावा किया था कि देश के पूर्व राष्ट्रपति ज़ाकिर हुसैन के नाम पर चलाई जा रही स्वंयसेवी संस्था ने बिना शिविर आयोजित किए ही सरकारी आर्थिक मदद हासिल कर ली थी.

तस्वीर झूठी

संसद मार्ग पर मीडिया से बात करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सलमान ख़ुर्शीद ने जो तस्वीर दिखाकर साबित करने की कोशिश की थी वो साल 2010 की थी, जबकि धांधली का मामला साल 2009 का है.

उसके बाद केजरीवाल ने कई लोगों को मीडिया के सामने पेश किया. इन लोगों ने जिनमें एक स्वंयसेवी संस्था से जुड़े थे और दूसरे ख़ुद एक विकलांग थे, कहा कि शिविर कभी लगे ही नहीं थे.

मंच पर केजरीवाल के साथ खड़े मैनपूरी से आने का दावा करने वाले पंकज ने कहा कि वो पांव से लाचार हैं लेकिन ज़ाकिर हुसैन ट्रस्ट ने लिस्ट में उन्हें ठीक से सुनने का उपकरण हासिल करने वाले व्यक्ति के तौर पर दिखाया है.

विवेक यादव, जिन्होंने ख़ुद को स्वंयसेवी संस्था के कर्ता-धर्ता के तौर पर पेश किया; का कहना था कि उनकी संस्था ने काफ़ी ऐसे लोगों के नाम फर्जी तौर पर लिस्ट में जोड़े गए देखे हैं जिन्हें किसी तरह की कोई मदद दी ही नहीं गई.

मानहानि

केजरीवाल ने कुछ अख़बारों और चैनलों पर चली गई ख़बरों का भी हवाला प्रेसवार्ता में दिया, और कहा कि मीडिया भी सलमान साहब के ख़िलाफ़ लिख और दिखा रहा है कहीं वो इनपर भी मानहानि का केस न कर दें.

सलमान ख़ुर्शीद ने इंडिया टूडे समूह के चैनल आजतक को अदालत में ले जाने की बात कही है.

केजरीवाल का कहना है कि सलमान ख़ुर्शीद जिस जांच की बात कह रहे हैं वो अगर उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार करती है तो उसपर किस तरह यक़ीन किया जा सकता है, क्योंकि अखिलेश यादव के पिता मुलायम सिंह यादव के खिलाफ़ सुप्रीम कोर्ट आय से अधिक संपत्ति का केस चल रहा है.

केस सीबीआई की तरफ़ से चलाया जा रहा है जो केंद्र सरकार के अधीन है और केस की सुनवाई के लिए सरकारी वकील की नियुक्ति केंद्रीय क़ानून मंत्री के तौर सलमान ख़ुर्शीद करते हैं.

संबंधित समाचार