गडकरी की कंपनियों पर 'फर्जीवाड़े' के आरोप

 बुधवार, 24 अक्तूबर, 2012 को 00:29 IST तक के समाचार
नितिन गडकरी

गडकरी का कहना है कि वो जांच के लिए तैयार हैं.

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष नितिन गड़करी की परेशानियां बढ़ती जा रही है. अब उनकी कंपनियों में फर्जी कंपनियों के निवेश की बात कही जा रही है.

सामाजिक कार्यकर्ता से राजनेता बने इंडिया अगेंस्ट करप्शन के अरविंद केजरीवाल ने गडकरी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे.

अब कई मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि भाजपा अध्यक्ष की कंपनियों में जिन कंपनियों ने निवेश किया है, उनमें से कई कंपनियों का कोई अस्तित्व ही नहीं है. उन कंपनियों के जो पते दिए गए हैं वो भी सही नहीं हैं.

सरकार ने कहा हैं कि नितिन गडकरी पर लग रहे आरोपों की जांच की जाएगी.

'घिरते हुए' गडकरी

मीडिया रिपोर्टों के आधार पर समाचार एजेंसी पीटीआई का कहना हैं कि नितिन गडकरी की पूर्ती पावर और शुगर लिमिटेड कंपनी में जो निवेश हुआ है उसका एक बड़ा हिस्सा आइडिएल रोड बिल्डर (आईआरबी) नाम की कंपनी से आया है.

आईआरबी वही कंपनी है जिसे महाराष्ट्र में सड़क बनाने के ठेके मिले थे और ये ठेके उस दौरान दिए गए जब नितिन गड़करी महाराष्ट्र में लोकनिर्माण मंत्री थे.

"ये सारा रुपया गडकरी जी का था, लेकिन वो ये दिखाने की स्थिति में नहीं थे कि ये रुपया उनके पास कहां से आया. इस तरह से फर्जी कंपनियां चॉल में, झु्ग्गियां में चल रही हैं, उनके नाम ये रुपया उनकी कंपनी में लगाया गया."

प्रशांत भूषण, इंडिया अगेंस्ट करप्शन

नितिन गडकरी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने वाले अरविंद के साथी प्रशांत भूषण ने गडकरी के बारे में आ रही ताजा खबरों के बाद कहा है कि इससे साबित होता है कि उनकी ओर से लगाए गए आरोप बेबुनियाद नहीं हैं.

प्रशांत भूषण ने कहा, "ये सारा रुपया गडकरी जी का था, लेकिन वो ये दिखाने की स्थिति में नहीं थे कि ये रुपया उनके पास कहां से आया. इस तरह से फर्जी कंपनियां चॉल में, झु्ग्गियां में चल रही हैं, उनके नाम ये रुपया उनकी कंपनी में लगाया गया."

हालांकि इंडिया अगेंस्ट करप्शन ने कहा कि इस बात की संभावना काफी कम है कि नितिन गडकरी के खिलाफ़ कोई कारवाई होगी. अरविंद केजरीवाल का कहना है, "भाजपा वाले कांग्रेस को बचाएंगे और कांग्रेस वाले भाजपा को बचाएंगे."

'वाड्रा की भी जांच हो'

इन तथ्यों के सामने आने के बाद कंपनी मामलों के केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली ने कहा है कि इस मामले की जांच होगी.

पीटीआई के अनुसार मोइली ने कहा कि उन्होंने इस मामले से जुड़े तथ्य जुटाने के लिए कहा है. अगर इन जानकारियों में कोई अनियमितता पाई जाती हैं तो इस मामले की जांच के आदेश दिए जाएंगे.

रॉबर्ट वाड्रा

अरविंद केजरीवाल ने वाड्रा पर भी भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं

नितिन गडकरी इन आरोपों से इनकार करते रहे हैं हालांकि उन्होंने बेनामी कंपनियों के निवेश के मामले पर कोई सफाई नहीं दी है.

वैसे भारतीय जनता पार्टी की ओर से निर्मला सीतारमन ने कहा कि नितिन गडकरी जांच के लिए तैयार हैं. साथ ही उन्होंने रॉबर्ट वाड्रा पर लगे आरोपों की जांच कराए जाने की भी मांग की है.

उन्होंने कहा, “वाड्रा के मामले में वीरप्पा मोइली ने कहा था कि जांच की ज़रूरत ही नहीं हैं. मुझे नहीं लगता कि एक मंत्री के तौर पर उन्हें पूर्वाग्रह से ग्रस्त होकर पार्टी के आधार पर इस तरह के कदम उठाने चाहिए. जहां तक गडकरी जी की कंपनी का सवाल हैं, वो कह चुके हैं कि हर तरह की जांच के लिए तैयार हैं."

भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस पर हमला करने वाली भाजपा के लिए अपने अध्यक्ष के खिलाफ ही भ्रष्टाचार के आरोप लगना परेशानी का सबब हो सकता है. पार्टी ही नहीं नितिन गड़करी के लिए भारतीय जनता पार्टी के दोबारा अध्यक्ष बनने पर भी सवाल खड़े हो सकते हैं.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.